Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

किस्सा सीटों का : कांग्रेस के दबदबे वाले बेरी सीट से चार बार जीते डॉ कादियान, इस बार राह नहीं होगी आसान

झज्जर जिला स्थित बेरी विधानसभा कांग्रेस का गढ़ रही है। पिछले चार विधानसभा चुनावों में लगातार कांग्रेस को यहां से जीत मिली है। जबकि 13 विधानसभा चुनावो में महज 5 बार ही दूसरी पार्टियों के प्रत्याशी जीत हासिल कर सके हैं। लेकिन इस बार कांग्रेस का गढ़ छिनने की संभावना हैं।

किस्सा सीटों का : कांग्रेस के दबदबे वाले बेरी सीट से चार बार जीते डॉ कादियान, इस बार नहीं होगी आसानDr. Raghubir Singh won from Congress-dominated Beri seat four times, this time will not be easy

झज्जर जिला स्थित बेरी विधानसभा कांग्रेस का गढ़ रही है। पिछले चार विधानसभा चुनावों से लगातार कांग्रेस के डॉ. रघुबीर सिंह कादियान जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं। लेकिन लेकिन इस बार माहौल कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है। भाजपा के 75 पार के नारे से कादियान की नैया भी हिल रही है। 

बेरी विधानसभा सीट से पांच बार विधायक बन चुके डॉ. कादियान को भाजपा से लेकर अपनों से कड़ी टक्कर मिलेगी। भाजपा के पूर्व प्रत्याशी विक्रम कादियान पिछले पांच साल से तैयारी कर रहे थे। हलके में सीधे मतदाताओं तक दस्तक दे रहे थे। इसके अलावा डॉ. कादियान के करीबी रहे कोआपरेटिव बैंक के चेयरमैन अजय अहलावत भी निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर ताल ठोक दी है। जिसने डॉक्टर कादियान की मुश्किलों को बढ़ा दिया है।

कांग्रेस की जड़े 1967 से मजबूत

बेरी विधानसभा सीट पर कांग्रेस की जड़े 1967 से मजबूत हैं। इस सीट से पहली बार कांग्रेस के प्रताप सिंह दौलता कांग्रेस से जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। इसके बाद 1968 में कांग्रेस पार्टी से ही रणसिंह ने चुनाव जीता। 1972 में प्रताप सिंह दौलता ने निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीतकर विधानसभा में पहुंचे। 1977 में रणसिंह ने जेएनपी के बैनर तले चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। 1980 में हुए उप-चुनाव में अजीत सिंह कादियान जेएनपी (एसएल) ने चुनाव जीता। 1982 में ओमप्रकाश बेरी ने लोकदल पार्टी से चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। 1987 में डॉक्टर रघुबीर सिंह कादियान ने लोकदल से चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। 1991 में एक बार फिर ओमप्रकाश बेरी ने कांग्रेस से चुनाव लड़ा और जीतकर विधानसभा पहुंचें। 1996 में वीरेंद्र पाल ने एसएपी के बैनर तले चुनाव लड़ा और जीतकर विधानसभा पहुंचें। उसके बाद वर्ष 2005 से 2019 तक कांग्रेस पार्टी से लगातार चार बार डॉक्टर रघुबीर सिंह कादियान चुनाव जीते।

ये बने हैं अब तक विधायक

1967, 1972

प्रताप सिंह दौलता

कांग्रेस, निर्दलीय

1968, 1977

रणसिंह

कांग्रेस, जनता पार्टी

1980

अजीत सिंह

जनता पार्टी

1982, 1991

ओम प्रकाश

लोकदल, कांग्रेस

1987

डॉ. रघुबीर कादयान

लोकदल

1996

डॉ. विरेंद्र पाल

समता

2000, 2005, 2009

डॉ. रघुबीर कादयान

कांग्रेस

2014

डॉ. रघुबीर कादयान

कांग्रेस

सरकार ने कराए करोड़ों रुपये के कार्य



हरियाणा सरकार ने बेरी विधानसभा क्षेत्र में 43.02 किलोमीटर लंबी सड़क बनवायी हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग-71 पर दुजाना चौक पर पुल का निर्माण शुरू हो गया है। नई सड़कों के निर्माण के लिए 11 करोड़ से अधिक रुपये को स्वीकृति दी गई है।जबकि सड़कों की मरम्मत के लिए 13 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। इसके अलावा मां भीमेश्वरी देवी मंदिर के लिए प्रबंधन बोर्ड के गठन को स्वीकृति दी गई है। लघु सचिवालय परिसर में अंत्योदय सरल केंद्र खोला गया। प्रमुख स्थानों पर सीसीटीवी लगाए जाने की योजना को स्वीकृति मिली। वहीं बेरी से विधायक डॉक्टर रघुबीर सिंह कादियान का कहना है कि सरकार ने बेरी हलके के साथ पक्षपात और पूरी तरह से भेदभाव किया है। सीएम की घोषणा के बावज़ूद भी बेरी में महिला कॉलेज नहीं बनवाया गया है।

Next Story
Top