Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Election 2019: अर्जुन चौटाला बोले- ओमप्रकाश चौटाला और अभय सिंह के हाथ में टिकट देना

अर्जुन चौटाला ने कहा कि अभय चौटाला पिछले छह महीने से कह रहे है कि मेरे बड़े अजय चौटाला कह दें तो मैं राजनीति से पीछे हट जाऊंगा। जो फैसला अजय चौटाला लेंगे मैं उनके साथ हूं।

Haryana Assembly Election 2019: अर्जुन चौटाला बोले- ओमप्रकाश चौटाला और अभय सिंह के हाथ में टिकट देनाHaryana Election : Arjun Chautala said Ticket distribution in hands of Omprakash Chautala and Abhay Singh

इनेलो के युवा नेता अर्जुन सिंह चौटाला (Arjun Singh Chautala) ने कहा कि कैथल में 25 सिंतबर को सम्मान दिवस (Samman Diwas) मनाने जा रहे है। चारों तरफ से अच्छा सहयोग मिल रहा है। वे एक पर्यटन केंद्र में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि देवीलाल एक सामाजिक आदमी थे। 25 सितंबर की यह चुनावी रैली भी है। पार्टी के गठबंधन के जितने भी फैसले हैं वे मेरे हाथ में नहीं है। यह सब पार्टी सुप्रीमो ओप्रकाश चौटाला व अभय सिंह के हाथ में है। हम सभी कार्यकर्ता है। हमारा काम कार्यर्ताओं को पार्टी से जोड़ना है।

अशोक अरोड़ा से बहुत कु सीखा

उन्होंने बताया कि अशोक अरोड़ा से मैने बहुत कुछ सीखा है। चुनाव में उन्होंने मेरा नेतृत्व किया है। कांग्रेस में जाते है तो मैं भगवान से दुआ करता हूं कि जो मान सम्मान इनेलो नेशनल लोकदल ने दिया है, वही मान सम्मान उनके कांग्रेस पार्टी में मिले। अभय सिंह कहते थे कि अशोक अरोड़ा तो अपनी टिकट जेब लेकर चलते हैं। हमने पार्टी में उनका पूरा मान सम्मान रखा है। इनेलो छोड़ने का सही कारण अशोक अरोड़ा ही बता सकते है।

अभय और ओमप्रकाश चौटाला को टिकट बंटवारा का अधिकार

उन्होंने बताया कि अभय चौटाला पिछले छह महीने से कह रहे है कि मेरे बड़े अजय चौटाला कह दें तो मैं राजनीति से पीछे हट जाऊंगा। जो फैसला अजय चौटाला लेंगे मैं उनके साथ हूं। अशोक अरोड़ा हमारी पार्टी से सम्मानित सदस्य है। टिकट का बंटवारा करने का अधिकार ओमप्रकाश चौटाला व अभय चौटाला के हाथ है। हम सब कार्यकर्ता है। आज के दिन पूरे देश में सबसे कम रोजगार भाजपा सरकार ने दिया है। आज प्रदेश के अंदर मंदी आई है।

उन्होंने बताया कि जब युवा के पास रोजगार नहीं होगा तो खर्चा कैसे करेगा। जिसके कारण मंदी आई है। प्रत्येक जिले की अलग-अलग समस्याएं है। पिछले पांच का रिकार्ड उठाकर देखे जिसमें आज किसान दुखी न हो। किसानों द्वारा अपनी मांगों के लिए सीएम हाउस व जिला स्तर पर धरना नहीं दिया हो।

उन्होंने कहा कि किसानों के हितों, युवाओं के बेरोजगार की बात की जाए। स्कूलों व कॉलेजों में अच्छी सुविधाएं व अच्छे अध्यापकों को नियुक्त करें। पार्टी द्वारा ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया जाएगा जो जिले का विकास कर सके। इस मौके पर रणबीर पराशर, हलका प्रधान संजीव छौत,अनिल तंवर, नेपाल हाबड़ी, रामदिया चावरिया आदि मौजूद रहे।

Next Story
Top