Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा सरकार में दो उपमुख्यमंत्री पदों को लेकर चर्चा, भाजपा की तरफ से अनिल विज का नाम प्रस्तावित

हरियाणा सरकार के गठन से पहले भाजपा और जजपा के बीच उप मुख्यमंत्री के दो पदों को लेकर चर्चा हो रही है। सूत्रों के मुताबिक, भाजपा की तरफ से एक उपमुख्यमंत्री पद के लिए अंबाला कैंट से भाजपा विधायक अनिल विज का नाम प्रस्तावित किया गया है।

अनिल विज ने किया पानीपत का दौराअनिल विज (फाइल फोटो)

हरियाणा में जननायक जनता पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के गठबंधन के ऐलान के बाद उपमुख्यमंत्री को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं। जननायक जनता पार्टी के समर्थन के बाद प्रदेश के उप मुख्यमंत्री की कुर्सी जजपा को दी जानी तय है। लेकिन जानकारी के मुताबिक पार्टियों के बीच दो मुख्यमंत्री पदों के लिए चर्चा की जा रही है। भाजपा ने प्रस्ताव रखा है कि दूसरा उप मुख्यमंत्री पद भाजपा को दिया जाए।

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा की तरफ से दूसरे उपमुख्यमंत्री पद के लिए भाजपा की ओर से प्रदेश कैबिनेट मंत्री अनिल विज का नाम प्रस्तावित किया गया है। वहीं जजपा की तरफ से दुष्यंत चौटाला या उनकी मां नैना चौटाला को उपमुख्यमंत्री पद दिया जाएगा। लेकिन भाजपा केंद्रीय मंत्री रवि शंकर ने बयान जारी कर प्रदेश मे दो उपमुख्यमंत्री पदों की बात को खारिज कर दिया है और कहा है कि प्रदेश में केवल एक उपमुख्यमंत्री होगा।

बता दें, अनिल विज हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 में अंबाला कैंट से भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए हैं। अनिव विज हरियाणा के भाजपा नेताओं में शुरू से ही एक चर्चित नाम रहे हैं। राष्ट्रीय स्तर पर उनका नाम चर्चा में उस समय आया था। जब उन्होंने हरियाणा के कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ जमीन घोटालों की जांच शुरू करवाई थी। हरियाणा विधानसभा चुनाव 2014 में भी अनिव विज अंबाला कैंट से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुनाव में विजयी रहे थे। खट्टर कैबिनेट में उन्हें स्वास्थय व खेल मंत्रालय का जिम्मा सैंपा गया था।

अनिल विज अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में बने रहते हैं। 2014 में एक महिला मंत्री के खिलाफ टिप्पणी करने के लिेए उन्हें विधानसभा से निलंबित किया जा चुका है। उसके अवाला 2017 में उन्होंने ताजमहल को एक खूबसूरत कब्रिस्तान बताया था। जिस वजह से वह विवादों में घिर गए थे। हाल में ही कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा को रिजेक्टेड माल बताने की वजह से भी उनकी कड़ी आलोचना हुई थी।

Next Story
Top