Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शरारती तत्वों ने सुबह पांच बजे किया मेघनाथ के पुतले का दहन, दूसरा पुतला ढूंढने में जुटा प्रबंधन

हरियाणा (Haryana) के गुरूग्राम (Gurugram) में स्थित गौशाला मैदान पर शहर की सबसे बड़ी रामलीला (Ram Leela) का आयोजन किया जाता है। कुछ शरारती तत्वों नें मंगलवार सुबह के पांच बजे मेघनाथ के पुतले (Meghnath Effigy) का दहन कर दिया। जिस वजह से पूरा प्रबंधन मेघनाथ का दूसरा पुतला ढूंढने में जुटा हुआ है।

शरारती तत्वों ने सुबह पांच बजे किया मेघनाथ के पुतले का दहन, दूसरा पुतला ढूंढने में जुटा प्रबंधनMischievous elements burnt Meghnath's effigy at five in the morning, management trying to find another another effigy

कुछ लोग त्योहार के अवसर पर भी शरारतों से बाज नहीं आते हैं। मंगलवार को दशहरे के अवसर पर गुरूग्राम में शरारती तत्वों ने ऐसी ही एक घटना को अंजाम दिया। गुरूग्राम के गौशाला मैदान में पूरे शहर का सबसे बड़ा दशहरा आयोजन किया जाता है। जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में वहां लोग इकट्टठे होते हैं। लेकिन कुछ लोगों की शरारत की वजह से इस बार रावण दहन देखने आए लोगों को निराश होना पड़ सकता है।



मंगलवार को दशहरे के अवसर पर शाम के समय रावण का दहन किया जाना था। जिसकी तैयारियां सोमवार को ही पूरी कर दी गई थीं। रात में ही दहन रावण और मेघनाथ के पुतलों को गौशाला मैदान में दहन के लिए स्थापित कर दिया गया था। लेकिन कुछ शरारती तत्वों ने मंगलवार सुबह पांच बजे ही मेघनाथ के पुतले का दहन कर दिया।



सूचना की जानकारी मिलते ही रामलीला प्रबंधन कमेटी के सदस्य घटनास्थल पर पहुंचे। वहां पहुंचकर उन्होंने देखा कि मेघनाथ का पुतला पूरी तरह जल चुका है। प्रबंधन कमेटी अध्यक्ष का कहना है कि रावण के साथ मेघनाथ के पुतले का दहन भी जरूरी है। क्योंकि उसके बिना रामलीला का आयोजन पूरा नहीं होगा। पूरा प्रबंधन मेघनाथ का दूसरा पुतला ढूंढने की कोशिशों में जुटा हुआ है।

Next Story
Top