Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिला कांस्टेबल और उसके पति ने सरकारी नौकरी के नाम पर 19 लड़कों से ठगे 25 लाख

शिकायतकर्ता के मुताबिक 19 लडको के फर्जी नियुक्ति पत्र (Fake Appointment Letter) जारी करवाकर दिए व कुछ लड़कों को डी.एम.आर.सी. में लगवाया व कुछ लड़को को हिसार बिजली विभाग (Hisar Electricity Department) में लगवाया जो 90 दिन तक उनके लड़कों ने काम किया व सभी लड़कों को तीन महीने तक सिर्फ 2-2 हजार रूपये देकर वहां से भगा दिया।

जीजा-साली चलाते थे ठगी का रैकेट,गिरफ्तार
X
ठगी (प्रतीकात्मक फोटो)

सरकारी नौकरी (Govt Job) की आड़ में हरियाणा पुलिस की महिला कांस्टेबल (Female Constable) व उसके पति पर 25 लाख की ठगी करने के आरोप लगे है। शिकायतकर्ता ने 19 लड़कों को सरकारी नौकरी पर लगवाने के लिए हैड कांस्टेबल व उसके पति को पैसे दिए थे। शातिर दंपति ने 19 लड़कों के फर्जी नियुक्ति दस्तावेज (Fake Appointment Document) तैयार करवाकर कुछ को डीएमआरसी व कुछ लड़कों को हिसार बिजली बोर्ड में नौकरी पर लगवा दिया।

शिकायतकर्ता के मुताबिक इन सभी लड़कों से 90 दिन तक काम करवाया गया और बाद में इन्हें दो-दो हजार रुपए देकर वहां से भगा दिया। जब इस फर्जीवाडे़ का खुलासा हुआ तो शिकायतकर्ता ने महिला पुलिसकर्मी से पैसे वापिस देने की डिमांड की। पुलिसकर्मी व उसके पति ने रिवॉल्वर दिखाकर जान से मारने की धमकी दी। शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताडि़त ठगी का शिकार हुए पीडि़त ने पूरे मामले की शिकायत पुलिस को की।

शिकायत के आधार पर मामला दर्ज

पुलिस ने शिकायतकर्ता की शिकायत के आधार पर महिला हेड कांस्टेबल व उसके पति के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। करनाल के मोतीनगर निवासी शिकायतकर्ता संदीप कुमार की करनाल में एक कार वर्कशॉप है। वर्कशॉप पर कार ठीक करवाने के लिए आई महिला हेड कांस्टेबल बेअंत कौर व उसके पति परमिंद्र सिंह से संदीप की मुलाकात हुई। पुलिस की वर्दी में महिला ने संदीप को बताया था कि वह हरियाणा पुलिस में कार्यरत है। जबकि उसके पति परमिंद्र ने बताया है कि वह सरकारी नौकरी पर लोगों को पैसे लेकर लगवाता है।

19 लड़कों को सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर लिए थे पैसे

शिकायतकर्ता के मुताबिक उसकी हरियाणा पुलिस, दिल्ली पुलिस, पंजाब पुलिस व दिल्ली रेलवे, दिल्ली मैट्रो डी.एम.आर.सी. तथा एच.एस.एस.ई. में जान-पहचान है और 50 लोगों को लगवा चुका है। सभी नौकरियों का रेट अलग-अलग है। आधे रूपये फार्म भरवाते वक्त तथा आधे रुपये नौकरी का नियुक्ति पत्र देने के बाद लेता है।

शिकायतकर्ता के मुताबिक उसका दोस्त सुरेश भी मौके पर मौजूद था। सुरेश ने अपने रिश्तेदारों के लड़कों को नौकरी पर लगवाने की इच्छा जताई और सभी लड़कों को सरकारी नौकरी पर लगवाने के लिए 25 लाख रूपये ए.टी.एम., चैक, आनलाईन के माध्यम व नकदी उनको दे दी।

90 दिन में दो हजार रुपए देकर भगाया

शिकायतकर्ता के मुताबिक 19 लडको के फर्जी नियुक्ति पत्र जारी करवाकर दिए व कुछ लड़कों को डी.एम.आर.सी. में लगवाया व कुछ लड़को को हिसार बिजली विभाग में लगवाया जो 90 दिन तक उनके लड़कों ने काम किया व सभी लड़कों को तीन महीने तक सिर्फ 2-2 हजार रूपये देकर वहां से भगा दिया।

लड़कों ने संदीप को बताया कि हमारे साथ धोखा करके फर्जी प्रमाण पत्र जारी करके फर्जी तरीके से हमारे पैसे हड़पने की नियत से धोखाधड़ी की है। मामले का खुलासा होने के बाद महिला से पैसे मांगें तो उन्होंने साफ मना कर दिया। शिकायतकर्ता का आरोप है कि जब वह छानबीन करते हुए अंबाला पहुंचा तो दोनों पति पत्नी ने उसको पिस्तौल दिखाकर जान से मारने की धमकी दी।

बैंक से लोन लेकर रिश्तेदारों को चुकाए पैसे

शिकायतकर्ता संदीप कुमार का कहना है कि इस घटना के बाद वह मानसिक रूप से परेशान हो गया। उसने बैंक से 5 लाख का लोन व साढ़े नौ लाख रूपये की बैंक लिमिट उठाकर अपने रिश्तेदारों को उनके रूपए लौटाए। इसके बाद भी जब रिश्तेदारों के पैसे पूरे नहीं हुए तो संदीप ने अपनी वर्कशॉप को रद्दी के भाव बेचना पड़ा और आरोपितों के खिलाफ लिखित शिकायत पुलिस को की। पुलिस ने शिकायत के आधार पर हेड कांस्टेबल बैअंत कौर व उसके पति परमिंद्र सिंह के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

मधुबन थाना प्रभारी तरसेम सिंह ने कहा कि सरकारी नौकरी की आड़ में 25 लाख की ठगी करने, जान से मारने की धमकी देने व अन्य आरोपों में महिला हेड कांस्टेबल बेअंत कौर व उसके पति परमिंद सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है।


और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story