Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पैसा दुगना करने का झांसा देकर 10 लाख की ठगी, गिरोह में दो बीएसएफ सेवारत शामिल

हरियाणा के पानीपत में एक गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है जो पैसा दुगना करने का वादा करके लोगों से पैसा ऐठता था।

लोहा कारोबारी से 1 करोड़ 12 लाख रुपए की ठगी, कंपनी डायरेक्टर रवि जैन और लव जैन के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्जFake of 1 crore 12 lakhs from iron trader

पानीपत के थाना सिटी पुलिस ने दिनेश पुत्र जगत सिंह निवासी वधवाराम कालोनी, पानीपत की शिकायत पर अमित तेवतिया निवाीस कंकरखेडा, मेरठ, उत्तर प्रदेश, संजय भाटी मैनेजिंग डायरेक्टर गरवित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड, कर्णपाल अधिकृती हस्ताक्षरकर्ता गरवित इनौवेटिव प्रमोर्ट, सीमा सुरक्षा बल में सेवारत दलबीर पुत्र प्रेम सिंह निवासी गांव बुआना लाखु व इसका सीमा सुरक्षा बल में साथी विक्रम निवासी हापुड, उत्तर प्रदेश के खिलाफ अपराधिक षडयंत्र रच धोखाधडी करने, हत्या की धमकी देने के आरोप में केस दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत में दिनेश ने बताया कि आरोपितों में से दलबीर उनका सगा चाचा है और बीएसएफ में सेवारत है, दलबीर ने ही विक्रम से उनकी मुलाकात करवाई थी, इसके बाद दोनों ने अमित तेवतिया, संजय भाटी व कर्णपाल से उनकी मुलाकात करवाई। आरोपितों ने उन्हें बहका लिया और रूपये दुगने करने का झांसा देकर कई बारी में उनसे 10 लाख रूपये ले लिए। लेकिन आरोपितों ने उनकी रकम दुगनी करने के बजाए ठग ली।

वहीं जब उन्होंने आरोपितों पर नगदी देने का दबाव बनाया तो उन्होंने रूपये देने से इंकार कर दिया और हत्या करने की धमकी दी। वहीं दिनेश की शिकायत पर थाना सिटी पुलिस ने अमित तेवतिया निवासी कंकरखेडा, मेरठ, उत्तर प्रदेश, संजय भाटी मैनेजिंग डायरेक्टर गरवित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड, चिति गौतमबुद्ध नगर, ग्रेटर नोएडा व इसी कंपनी के अधिकृती हस्ताक्षरकर्ता कर्णपाल, शिकायकर्ता के चाचा सीमा सुरक्षा बल में सेवारत दलबीर पुत्र प्रेम सिंह, सीमा सुरक्षा बल में सेवारत विक्रम निवासी हापुड, उत्तर प्रदेश के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 506, 120बी के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

वहीं इस केस की जांच कर रहे एएसआई सेठनपाल ने बताया कि दिनेश की शिकायत पर पांच आरोपितों पर केस दर्ज किया गया है, आरोपितों में से चार यूपी के है और इनमें एक शिकायकर्ता का सगा चाचा है। वहीं आरोपितों में से दो बीएसएफ में सेवारत है। उन्होंने बताया कि अमित, संजय भाटी व कर्णपाल को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा, जबकि बीएसएफ में सेवारत दलबीर व विक्रम को केस की जांच में कैसे शामिल किया जाएगा इसक संबंध उच्चाधिकारियों से सलाह ली जाएगी। उन्होंने बताया कि केस की निष्पक्ष जांच की जाएगी और जांच में जो भी आरोपित दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Next Story
Top