Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जेल लोक अदालत में चार विचाराधीन कैदियों को रिहा किया

छोड़े गए चारों कैदियों ने अपना गुनाह कबूल किया और भविष्य में किसी भी तरह का अपराध ना करने वादा किया है।

सांकेतिक फोटोसांकेतिक फोटो

करनाल जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम हितेश गर्ग की अध्यक्षता में जिला कारागार करनाल में गत दिवस मासिक जेल लोक अदालत का आयोजन किया। इस लोक अदालत में चार फाइलों को सीजेएम के समक्ष रखा गया। जिसका मौके पर ही निपटारा कर दिया गया।

इस दौरान चार विचाराधीन कैदियों को इस शर्त के साथ रिहा किया गया। जिन्होंने अपना गुनाह कबूल किया और भविष्य में किसी भी तरह का अपराध ना करने वादा किया। इन 4 मामलों मे 2 मामले भगौड़े घोषित हो चुके विचाराधीन कैदियों के थे जो तय समय तक कोर्ट के समक्ष उपस्थित नहीं हुए,

बाकि के दो मामले छोटे अपराधो में सम्मलित जैसे लड़ाई-झगड़ा व चोरी के मामलों में बंद विचाराधीन कैदियों के थे जो लम्बे समय से जेल में बन्द थे। इसके अतिरिक्त सीजेएम ने हर एक बैरक में जाकर कैदियों से बात-चीत की और उनकी समस्याओं को सुना।

इस दौरान कुछ कैदियों ने बताया की लम्बें समय से उनके द्वारा दिया गया फोन नम्बर चालू नहीं है। जिसके कारण वे अपने घर वालो से बात-चीत नहीं कर पाते। कुछ कैदियों ने समय पर गार्द न आने की समस्या बताई। जिस पर सीजेएम ने जेल प्रशासन को निर्देश दिया कि जल्द ही कैदियों की समस्याओं का समाधान किया जाए।

सीजेएम ने जेल में स्थित कैंटीन का निरीक्षण किया। जिसमें कुछ जरूरी सामान जैसे चीनी वगैरह स्टोक में उपलब्ध नहीं थी। जिस पर जेल प्रशासन को निर्देश दिया गया कि कैंटिन में सारा सामान उपलब्ध होना चाहिए। इस दौरान रसोई घर की सफाई व्यवस्था का भी जायजा लिया गया।

Next Story
Top