Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा समाचार: पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा को मिला नेता प्रतिपक्ष का दर्जा, लौटा पुराना रुतबा

Haryana Assembly: हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा औपचारिक रूप से हरियाणा विधानसभा में नए नेता विपक्ष बन गए हैं। विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने हुड्डा को नेता विपक्ष का दर्जा देने की अधिसूचना बुधवार को जारी कर दी। हाल में प्रदेश कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन के दौरान हुड्डा को किरण चौधरी की जगह कांग्रेस विधायक दल का नेता बनाया गया था।

हरियाणा समाचार: पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा को मिला नेता प्रतिपक्ष का दर्जा, लौटा पुराना रुतबाformer haryana CM bhupendra singh hooda status opposition leader in haryana assembly

Haryana Assembly हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा औपचारिक रूप से हरियाणा विधानसभा में नए नेता विपक्ष बन गए हैं। विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने हुड्डा को नेता विपक्ष का दर्जा देने की अधिसूचना बुधवार को जारी कर दी। हाल में प्रदेश कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन के दौरान हुड्डा को किरण चौधरी की जगह कांग्रेस विधायक दल का नेता बनाया गया था।

वर्तमान विधानसभा भंग होने तक पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को नेता विपक्ष की सुविधाएं भी मिलेंगी। इस बारे में हरियाणा कांग्रेस की नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्षा कुमारी शैलजा ने स्पीकर को एक पत्र लिखा था। शैलजा ने कहा था कि विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी है। पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को नेता विपक्ष का दर्जा दिया जाए।

बता दें कि 2014 में विधानसभा चुनाव के बाद इनेलो मुख्य विपक्षी दल था। उसके कुल 19 विधायक थे जबकि कांग्रेस 15 विधायकों के साथ तीसरे नंबर की पार्टी थी। मौजूदा विधानसभा में कांग्रेस के 15 विधायक जीते थे और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व मंत्री किरण चौधरी को उस समय विधायक दल का नेता बनाया गया था।

बाद में हरियाणा जनहित कांग्रेस का कांग्रेस पार्टी में विलय होने के बाद सदन में कांग्रेस विधायकों की संख्या 17 हो गई थी। हाल में कांग्रेस के जयतीर्थ दहिया ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था और इस तरह सदन में अब कांग्रेस विधायक दल 16 सदस्यों के साथ सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी बन गई है।

बता दें कि 10 साल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे भूपेंद्र सिंह हुड्डा को नेता विपक्ष का ओहदा मिलने के बाद उनका रुतबा मिल गया है। अब नियमानुसार उन्हें कैबिनेट रैंक के साथ-साथ सरकारी कोठी, स्टाफ, विधानसभा सचिवालय में ऑफिस आदि मिलेंगे।

Next Story
Share it
Top