Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना के खौप में विदेशी छात्रों को मिला अपने वतन अफगानिस्तान लौटने का मौका

रोहतक के महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में से विदेश छात्रों को उनके देश में भेजा जा रहा है। रविवार को आधा दर्जन छात्रों को अफगानिस्तान उनके देश में भेजे जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर छुडवाया गया

कोरोना  के खौप में विदेशी छात्रों को मिला अपने वतन अफगानिस्तान लौटने का मौकाफाइल फोटो स्क्रीनिंग करते हुए

हरिभूमि न्यूज। रोहतक । रोहतक के महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय से विदेशी छात्र जाना शुरू हो गए हैं। यहां 50 छात्र ऐसे हैं जो दूसरे देश से पढ़ने के लिए आये थे। कुछ छात्रों को पहले ही भेजा जा चुका है। कुछ छात्र बचे हुए थे, अफगानिस्तान से भी आधा दर्जन छात्र हैं, जिन्हें रविवार को जाने के लिए कहा गया है। इन छात्रों को दिल्ली एयरपोर्ट पर छोड़ा गया है। जो छात्र बाकी हैं, उन्हें आने वाले दिनों में भेज जाएगा। यूनिवर्सिटी प्रबंधन के अनुसार छात्र खुद भी अपने घरों को जाना चाहते हैं।

वहीं रोहतक रोहतक के गांव धामड से 2 आदमी जमात में गये थे। वो पटौदी अपनी रिश्तेदारी में रुके, बीमार हो गए। पटौदी के सरपंच ने धामड के सरपंच वज़ीर सिंह से बात की और दोनों को गांव में प्रवेश करवाने के लिए कहा। धामड़ के सरपंच ने उन्हें अपने गांव में प्रवेश करानेे से साफ इंकार कर दिया। मना करने के बावजूद इन दोनों में से एक आदमी का लड़का मकड़ौली के एक एम्बुलेंस चालक को लेकर उन्हें लेने पटौदी चला गया। सूचना मिलने पर सरपंच ने पुलिस को जानकारी दी। शनिवार रात को पुलिस ने दोनों व्यक्तियों, उस लड़के और एम्बुलेंस चालक को पीजीआई में भर्ती करवाया। डॉक्टर्स ने उनके कोरोना वायरस के सैम्पल लिए और चारों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया। धामड के सरपंच वज़ीर सिंह ने बताया कि दोनों आदमी जमात में गये थे, और उन्हें गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा।

Next Story
Top