Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेवाड़ी में 72 घंटे बाद मां-बेटे सहित मिले पांच कोरोना संदिग्ध

एक ही दिन में पांच संदिग्ध मिलने की घटना ने कोरोना से लड़ी जा रही लड़ाई में दिखाई जा रही उदासीनता एक बार फिर सामने आ गई है।

NHM Nurse Recuitment 2020: एनएचएम नर्स के पदों पर बंपर भर्ती, इंटरव्यू 15 मई को

हरिभूमि न्यूज,रेवाड़ी। मंगलवार को 72 घंटे बाद मां-बेटे सहित एक ही दिन में पांच संदिग्ध मिलने की घटना ने कोरोना से लड़ी जा रही लड़ाई में दिखाई जा रही उदासीनता एक बार फिर सामने आ गई है। जागरूकता के बावजूद अपनी पहचान छुपाने के लिए यात्रा की हिस्ट्री स्वास्थ्य विभाग के साथ सांझा न करने की बढ़ती प्रवृति तथा खुफिया तंत्र की नाकामी जिले में कोरोना वायरस से लड़ने की जंग पर भारी पड़ती जा रही है। जिले में इससे पहले शुक्रवार को लिए गए दो सैंपलों के बाद तीन दिन की खामोशी के बाद पांच संदिग्धों के अचानक सामने आने से जिले के सेफ जोन की तरफ बढ़ने के प्रयासों की धक्का लगा है।

पांच संदिग्धों में मां-बेटे यूएस में रह रहे व्यक्ति के परिवार से हैं, जबकि बाकी लोग दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके से आए बताए जा रहे हैं। खास बात यह है कि इनमें से न तो खुद अपनी यात्रा की हिस्ट्री जिला प्रशासन के साथ शेयर की तथा न ही खुफिया तंत्र इनका पता लगा पाया। खांसी-जुकाम के बाद अस्पताल पहुंचने पर इसका खुलासा हो पाया। इससे पहले भी धारूहेड़ा में तीन ऐसे ही संदिधों का खुलासा हुआ था। जिनमें एक मुंबई से आई एक्ट्रेस के अलावा गुजरात से लौटी यूपी की महिला तथा एक व्यक्ति शामिल था।

दुबई से लौटे दंपति का पता भी आसपास के लोगों की शिकायत के बाद ही लग पाया था। इसी कड़ी में जिला उपायुक्त यशेंद्र सिंह ने शर्तों के साथ एक कदम और आगे बढ़ाते हुए सीएमओ की मंजूरी पर लोगों को निजी अस्पतालों में कोरोना टेस्ट की अनुमति दी दे दी है। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में टेस्ट करवाने वालों को न केवल सीएमओ से इसकी अनुमति लेनी होगी, बल्कि टेस्ट का खर्च भी खुद वहन करना होगा। संबंधित अस्पताल को भी संदिग्ध का पूरा ब्यौरा सीएमओ के साथ सांझा करना होगा। उन्होंने कहा कि मंगलवार को मिले पांच संदिग्धाें से पहले जिले में लिए गए सभी 23 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिली थी तथा जिले में होम क्वारंटाइन किए गए सभी 1522 व्यक्तियों की मेडिकल टीम द्वारा निगरानी की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम क्वारंटाइन किए गए हैं तथा सभी की मेडिकल टीम द्वारा निरंतर निगरानी की जा रही है।

31 तक लिए गए थे 15 सैंपल

31 मार्च में दिल्ली में तबलीकी जमात का मामला सामने आने तक जिले में कोरोना संदिग्धों के 15 सैंपल लिए गए थे। इसके बाद 3 अप्रैल तक यह संख्या बढ़कर 23 हो गई तथा 72 घंटे तक शांत रहने के बाद अब यह संख्या बढ़कर 28 पहुंच गई हैं।

Next Story
Top