Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानें सतलोक आश्रम के प्रमुख रामपाल पर हैं कौन-कौन से गंभीर आरोप

हरियाणा के बरवाला स्थित सतलोक आश्रम के प्रमुख संत रामपाल को भले ही हिसार कोर्ट से दो मामलों में रिहा कर दिया गया है।

जानें सतलोक आश्रम के प्रमुख रामपाल पर हैं कौन-कौन से गंभीर आरोप

देश में बाबाओं को लेकर कोर्ट और कानून बहुत सख्त नजर आ रहा है। हरियाणा के बरवाला स्थित सतलोक आश्रम के प्रमुख संत रामपाल को भले ही हिसार कोर्ट से दो मामलों में रिहा कर दिया गया है।

लेकिन उन पर देशद्रोह समेत कुछ और केस भी हैं। इनकी सुनवाई जारी है। लिहाजा, वो जेल में ही रहेंगे। हरियाणा के ही बाबा रामपाल और उनके प्रवक्ता, आश्रम प्रबंधक कमेटी व अनुयायियों पर राजद्रोह और हत्या प्रयास के अलावा 19 धाराओं के तहत केस दर्ज है।

ये भी पढ़ें - जानिए कौन है संत रामपाल और क्या है पूरा विवाद

रामपाल समेत समर्थकों पर सरकारी ड्यूटी में बाधा पहुंचाने, बंधक बनाने, आपराधिक षड्यंत्र रचने सहित आईपीसी की विभिन्न धाराओं के खिलाफ केस दर्ज हैं। अगर रामपाल पर देशद्रोह का आरोप साबित होता है तो अदालत कम से कम उम्रकैद और अधिकतम फांसी की सजा सुना सकती है।

इन मुकदमों के अलावा रामपाल पर एक हत्या का भी आरोप है। 12 जुलाई, 2006 को हरियाणा के रोहतक के करौंथा में बाबा रामपाल द्वारा संचालित सतलोक आश्रम के बाहर जमा भीड़ पर हुई फायरिंग में झज्जर के एक युवक की मौत हो गई थी।

साल 2006 में स्वामी दयानंद की लिखी एक किताब पर संत रामपाल ने एक टिप्पणी की थी। आर्यसमाज इस टिप्पणी से नाराज हो गया। आर्य समाज और रामपाल समर्थकों में हिंसक झड़प हुई। इसमें एक मृत्यु हो गई।

जिसका आरोप रामपाल पर लगा। 22 महीने जेल में रहने के बाद वह 30 अप्रैल 2008 को जमानत पर रिहा हुआ था। फिलहाल रामपाल के खिलाफ दर्ज 'सरकारी काम में बाधा डालने' और 'आश्रम में लोगों को बंधक बनाने' के मामले में रिहा कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें - हिसार कोर्ट ने रामपाल को किया बरी, भक्तों ने लगाए जयकारे

कौन हैं रामपाल

हरियाणा के सोनीपत में धनाणा गांव में 1951 को जन्मे रामपाल हरियाणा सरकार के सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर थे। इसके बाद नौकरी छोड़कर रामपाल ने रोहतक के करोंथा गांव में सतलोक आश्रम बनाया। यहां विवाद हुआ तो उन्होंने हिसार के बरवाला में अपना आश्रम बना लिया।

Next Story
Top