Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान नेता राजेंद्र आर्य ने कहा, हरियाणा को नहीं मिला अपने हिस्से का पानी

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र आर्य दादूपुर ने किसान भवन में कहा कि सतलुज यमुना लिंक नहर मामले में 1976 में केंद्र ने अधिसूचना जारी की। जिसमें हरियाणा के लिए 3.5 एमएएफ पानी देने का निर्देश दिया था।आज 44 वर्ष बीत जाने के बाद भी हरियाणा को अपने हिस्से का पानी नहीं मिला है।

हरियाणा में जल जीवन मिशन के तहत 2022 तक हर व्यक्ति को मिलेगा पानी, केंद्र सरकार ने बनायी ये योजना
X
हरियाणा को पर्याप्त नहर का पानी नहीं मिला (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र आर्य दादूपुर ने किसान भवन में कहा कि सतलुज यमुना लिंक नहर मामले में 1976 में केंद्र ने अधिसूचना जारी करके हरियाणा के लिए 3.5 एमएएफ पानी देने का निर्देश दिया था। इसके तत्काल बाद फिर हुए बटवारे में पंजाब का हिस्सा 4.11 एमएएफ व हरियाणा का हिस्सा 3.5 एमएएफ निर्धारित किया गया। आज 44 वर्ष बीत जाने के बाद भी हरियाणा को अपने हिस्से का पानी नहीं मिला है।

जिसकी वजह से हरियाणा की वाटर टेबल लगातार गिरते हुए निचले स्तर पर है और पूरा हरियाणा डार्क जोन में आ गया है। किसान नेता राजेन्द्र आर्य दादूपुर ने कहा कि केन्द्र सरकार पाकिस्तान में जा रहे पानी को रोक कर हरियाणा का हिस्सा शीघ्र दिलवाए। क्योंकि भारत के हिस्से का पानी पाकिस्तान के रास्ते अरब सागर में गिरकर व्यर्थ जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि एसवाईएल संघर्ष में किसान संगठन सरकार के साथ है।

एसवाईएल मुद्दे पर पूरे प्रदेश के किसानों को साथ लेकर आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। दादूपुर ने कहा कि केन्द्र व हरियाणा सरकार ढीला रवैया छोड़कर कानूनी व पंचायती प्रयासों को तेज करे। किसान नेता राजेन्द्र आर्य ने कहा कि 9 फरवरी को रोहतक से किसान यात्रा शुरू कर यात्रा भिवानी, रेवाड़ी, महेन्द्रगढ़, गुरुग्राम होते हुए दिल्ली में धरना देगें।

Next Story