Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जिम ट्रेनर ने की थी डॉक्टर दंपत्ति की हत्या, बेटे का दोस्त है आरोपी

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में डॉक्टर दंपत्ति की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। चारों सदस्यों की हत्या डॉक्टर के दोस्त जिम ट्रेनर ने की है।

मां के सामने बेटे की चाकूओं से गोदकर हत्या, दो बदमाश गिरफ्तारमां के सामने बेटे की चाकूओं से गोदकर हत्या (फाइल)

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में हुई डाक्टर दंपत्ति की हत्या का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। डॉक्टर दंपत्ति के बेटे के दोस्त ने चारों की हत्या की है। डॉक्टर प्रवीण मेहंदीरत्ता, उनकी पत्नी सुदेश उर्फ भारती, बेटी प्रियंका और दामाद सौरभ कटारिया की हत्या के बाद आरोपी फरार हो गया है। फरीदाबाद के मुातबिक हत्या मुकेश ठाकुर नामक युवक ने की है। आरोपी डा. मेहंदीरत्ता के बेटे दर्पण का दोस्त है।

फरीदाबाद पुलिस के एसीपी क्राइम अनिल कुमार ने बताया कि डबुआ कालोनी का रहने वाले मुकेश का डाक्टर के घर आना-जाना था। उन्होंने बताया कि इस हत्याकांड में सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पुलिस को चार लोगों पर संदेह था। इसी कारण सभी को पूछताछ के लिए बुलाया गया था। इनमें से तीन तो पुलिस के पास पहुंच गए, मगर मुकेश नहीं आया। इस पर पुलिस टीम मुकेश के घर डबुआ पहुंची। वहां मुकेश फरार मिला। इस दौरान छानबीन की गई तो उसके घर से एक पत्र मिला। यह पत्र उसकी पत्नी ने पुलिस को दिया। इसमें मुकेश ने डाक्टर समेत चार लोगों की हत्या की बात कुबूल की है। साथ ही यह भी लिखा है कि वह अब मरने जा रहा है। एसीपी क्राइम ने कहा कि डाक्टर व उसके परिजनों की हत्या के पीछे क्या कारण था, यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। उन्होंने बताया कि क्राइम ब्रांच की दस टीमें आरोपी को पकड़ने के प्रयास में जुटी हैं। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके बाद ही हत्याकांड के कारण का खुलासा हो सकेगा। उन्होंने बताया कि क्राइम ब्रांच ने आरोपी के भाई समेत चार अन्य लोगों को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

खून सने कपड़े और मोबाइल बरामद

एसीपी क्राइम अनिल कुमार ने बताया कि आरोपी मुकेश के घर से ही पुलिस ने हत्याकांड में प्रयुक्त स्कूटी बरामद कर ली है। उसकी चाबी पर भी खून के निशान मिले हैं। इसके अलावा आरोपी के खून सने कपड़े और डाक्टर की बेटी प्रियंका का गायब हुआ मोबाइल भी पुलिस ने अजरौंदा के पास झाडि़यों से बरामद कर लिया है। हालांकि डाक्टर मेहंदीरत्ता का मोबाइल अभी भी गायब है।

सीसीटीवी कैमरों से पुलिस को मिली मदद

पड़ोसी सतीश गर्ग के घर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज व क्राइम सीन के मिलान से पता चलता है कि हमलावर ने पहले मेहंदीरत्ता दंपती की हत्या की, इसके बाद करीब पौना घंटा घर में बैठकर उनके बेटी व दामाद के आने का इंतजार किया। उनकी हत्या के करीब आधे घंटे बाद वह फरार हुआ। सीसीटीवी कैमरे की दूरी व अंधेरे के कारण न स्कूटी सवार का चेहरा दिखाए ना स्कूटी का नंबर या रंग।

पुलिस का अनुमान है कि हमलावर को मालूम था कि मेहंदीरत्ता दंपती के बेटी व दामाद आने वाले हैं। सीसीटीवी फुटेज में स्कूटी सवार रात करीब 10.30 बजे मेहंदीरत्ता दंपती के घर के बाहर पहुंचा। स्कूटी बाहर खड़ी कर वह घर के अंदर चला गया। करीब 11.15 बजे मेहंदीरत्ता दंपती के बेटी व दामाद घर के अंदर जाते दिखे। करीब 11.45 बजे स्कूटी सवार घर के बाहर जाता दिखा।

धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की गई

पुलिस को प्रवीन मेहंदीरत्ता का शव बेसमेंट में बनी लैब में कुर्सी पर पड़ा मिला, उनकी पत्नी भारती का शव बेडरूम में पड़ा मिला। सभी की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की गई है, शरीर पर चाकू घोपे जाने के भी निशान थे। बेसमेंट में एक्सरे मशीन चालू मिली है। यह मशीन तभी चालू की जाती है जब किसी का एक्सरे करना हो। वैसे भी प्रवीन रात के 10.30 बजे किसी जानकार का ही एक्सरे कर सकते हैं, अन्य को वे सुबह आने को बोल देते।

पुलिस का निष्कर्ष है कि 10.30 बजे आया हमलावर एक्सरे कराने के बहाने प्रवीण मेहंदीरत्ता को बेसमेंट में लेकर गया। जैसे ही प्रवीण ने मशीन चालू की, उसने उनका गला रेत दिया। इसके बाद ऊपर आकर बेडरूम में भारती की हत्या की। इसके बाद रात 11.15 बजे पहले बेटी प्रियंका अंदर आई, दामाद सौरभ कटारिया कार खड़ी करने लगा। उसने गेट पर ही प्रियंका की हत्या कर दी। इसके बाद जैसे ही सौरभ कटारिया अंदर आए, उसने उनकी भी हत्या कर दी।

Next Story
Share it
Top