Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एसडीएम के नाम फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर मांगी दोस्तों से मदद, मामला दर्ज करके शातिरों की तलाश शुरू

बावल एसडीएम रविन्द्र कुमार ने बताया कि किसी शातिर दिमाग व्यक्ति ने उनके नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बना ली है और उसके बाद उनके दोस्तों को तलाशने के बाद उन्हें उसी आईडी से पहले फ्रेंड रिकवेस्ट भेजी गई और बाद में धीरे-धीरे उनसे मदद की भी बात की गई।

एसडीएम के नाम फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर मांगी दोस्तों से मदद, मामला दर्ज करके शातिरों की तलाश शुरू

बावल के एसडीएम रविन्द्र कुमार के नाम से एक फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर शातिर लोगों ने उनके दोस्तों को पहले फ्रेंड रिकवेस्ट भेजी और फिर ऑनलाइन ही मदद के रूप में पैसे भी मांगे। दोस्तों ने इसके बारे में एसडीएम को सूचित किया। उसके बाद उन्होंने बावल थाना में शिकायत दी है। बावल पुलिस ने आईटी एक्ट में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

बावल एसडीएम रविन्द्र कुमार ने बताया कि किसी शातिर दिमाग व्यक्ति ने उनके नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बना ली है और उसके बाद उनके दोस्तों को तलाशने के बाद उन्हें उसी आईडी से पहले फ्रेंड रिकवेस्ट भेजी गई और बाद में धीरे-धीरे उनसे मदद की भी बात की गई।

मदद के रुप में ऑनलाइन ही फेबबुक के जरिए पैसे भी मांगे गए। बाद में किसी दोस्त ने एसडीएम को इसके बारे में बताया तो यह सुनकर उनके पैरो तले जमीन निकल गई। उन्होंने तुरंत बावल थाना पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने धोखाधड़ी व आईटी एक्ट में केस दर्ज कर शातिर लोगों की तलाश शुरू कर दी है।

आठ माह पहले भी हुई थी वारदात

करीब आठ माह पहले भी शहर के एक नामी डॉक्टर के साथ इसी प्रकार की वारदात हुई थी। डॉक्टर के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर शातिर लोगों ने मदद मांगनी शुरू कर दी थी। जान पहचान के कुछ लोगों ने उन्हें ऑनलाइन पैसे भी ट्रांसफर कर दिए थे, लेकिन सच्चाई का पता लगते ही उन्होंने डॉक्टर को सूचित किया।

बाद में डॉक्टर की शिकायत पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया था। जांच अधिकारी इंस्पेक्टर नीरज कुमार ने बताया कि शातिर लोगों पर केस दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही आरोपितों को काबू भी किया जाएगा।


Next Story
Top