Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चुनाव आयोग ने कर दिया नेताओं का ऐसा इंतजाम, ईवीएम को नहीं दे पाएंगे हार का दोष

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों (Haryana-Maharashtra Assembly Election Declare) में ईवीएम और वीवीपैट (EVM-VVPAT) अधिक सुरक्षित होंगी। चुनाव आयोग ने वीवीपैट और ईवीएम की सुरक्षा के लिए इन्हें डबल लॉक ( EVM-VVPAT Double Lock) का इंतजाम किया है। इससे नेता हार हार के बाद ईवीएम को दोष नहीं (Leaders Will Not Be Able To Blame EVM For Defeat) दे पाएंगे।

सोशल मीडिया पर उठी EVM को बंद करने की मांग
X
ईवीएम ( फाइल फोटो)

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों (Haryana-Maharashtra Assembly Election Declare) की घोषणा के साथ भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की शंकाओं को भी दूर कर दिया है। ईवीएम की सुरक्षा को पहले से दोगुना मजबूत कर दिया है। इसके अलावा वीवीपैट को भी अधिक सुरक्षित किया है। हरियाणा-महाराष्ट्र चुनावों में इस्तेमाल होने वाली ईवीपीएम-वीवीपैट (EVM-VVPAT Machine Double Lock) में डबल लॉक में होंगी।

चुनाव आयोग ने हरियाणा-महाराष्ट्र में चुनाव के वक्त ईवीएम-वीवीपैट की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा है। ताकि लोकसभा चुनावों की तरह विधानसभा के चुनावों में राजनीतिक दल कमजोरी छुपाने के लिए अफवाह न उड़ाएं। ऐसे में वीपीपैट और ईवीएम मशीनों को अपग्रेड कर अधिक सुरक्षित बनाया गया है। चुनाव आयोग का कहना है कि हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में ईवीएम और वीवीपैट अधिक सुरक्षित होंगी। वीवीपैट और ईवीएम की सुरक्षा के लिए डबल लॉक किया गया है। हालांकि पहले भी कोई छेड़छाड़ संभव नहीं थी। लेकिन शंकाओं को दूर करने के लिए डबल लॉक कर दिया गया है।

ईवीएम हैक के किए थे दावे

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान विपक्षी नेताओं ने ईवीएम पर सवाल खड़े किए थे। हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा गया था। चुनाव से पहले विपक्ष के नेताओं ने लामबंद होकर चुनाव आयोग से ईवीएम से चुनाव नहीं कराए जाने की अपील की थी। इसके बाद पहली बार चुनाव आयोग ने वीवीपैट की पर्चियों से कुछ बूथों पर मतदान के दौरान मिलान किए जाने के निर्देश दिए थे। ताकि उम्मीदवारों की शंकाओं को दूर किया जा सके। उसके बाद काफी हद तक ईवीपीएम को लेकर शंकाएं दूर हुईं थी। इसके बावजूद अभी भी कई नेता ईवीएम को लेकर समय-समय पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

इजराइल की तरह बैलट से चुनाव की मांग

इजराइल में बैलट से हाल ही में चुनाव संपन्न हुए हैं। जिसमें दक्षिण पंथी सरकार विरोधी पार्टी के मुकाबले 1 सीट कम हासिल कर सकी। उसके बाद विपक्ष के नेताओं ने ईवीएम को निशाने पर लिया। विपक्ष के नेताओं ने कहा है कि जब तकनीकि संपन्न इजराइल बैलट से मतदान कराता है तो फिर भारत में बैलट से मतदान क्यों नहीं होता।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story