Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पांच साल बाद सुलझी हत्या की गुत्थी, जेठ ने सुपारी देकर करवाई थी छोटे भाई की पत्नी की हत्या

पिछले पांच साल से पुलिस लगातार गुत्थी को सुलझाने के लिए हाथ पांव मार रही थी। इसी बीच पुलिस को मृतका ज्योति के जेठ तथा ज्योति हत्या के शिकायतकर्ता सोमपाल पर संदेह हुआ। पुलिस ने आरोपित से जब सख्ती से पूछताछ की तो उसने ज्योति की हत्या की बात स्वीकार कर ली।

65 वर्षीय बुजुर्ग की बेरहमी से हत्य, आरोपी ने लोहे के पाइप से पीट-पीट कर चेहरा बिगाड़ दिया65 Year Old Man brutally murdered, the accused smashed his face with an iron pipe

सफीदों थाना पुलिस ने गांव खेडा खेमावती में लगभग पांच साल पहले हुई महिला की हत्या की गुत्थी को सुलझाते हुए मृतका के जेठ को गिरफ्तार किया है। हत्या के पीछे मुख्य वजह यह रही आरोपित को संदेह था कि मृतका ने अपने पति की हत्या करवाई है। जिसके चलते आरोपित जेठ ने सुपारी देकर अपने मृतक छोटे भाई की पत्नी की हत्या करवाई थी।

पुलिस ने आरोपित जेठ को अदालत में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया है। गांव खेडा खेमावती निवासी सुनील की पत्नी ज्योति की 30 अक्टूबर 2014 को घर में ही तेजधार हथियार से हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने मृतका के जेठ सोमा उर्फ सोमपाल की शिकायत पर संदीप व एक अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था लेकिन मामले की गुत्थी नहीं सुलझ पाई।

पिछले पांच साल से पुलिस लगातार गुत्थी को सुलझाने के लिए हाथ पांव मार रही थी। इसी बीच पुलिस को मृतका ज्योति के जेठ तथा ज्योति हत्या के शिकायतकर्ता सोमपाल पर संदेह हुआ। पुलिस ने आरोपित से जब सख्ती से पूछताछ की तो उसने ज्योति की हत्या की बात स्वीकार कर ली।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपित सोमपाल की पत्नी पूजा तथा सोमपाल के छोटे भाई सुनील की पत्नी मृतका ज्योति सगी बहने थी। वर्ष 2011 में सोमपाल के छोटे भाई सुनील की मौत हो गई। सोमपाल को संदेह था कि उसके भाई सुनील की मौत के पीछे ज्योति का हाथ है। जिसके चलते सोमपाल की पत्नी पूजा भी उसके पति से दूर हो गई।

नौबत तलाक तक जा पहुंची। जिस पर सोमपाल ने सुनील की पत्नी 'योति की हत्या का षडयंत्र रचा और गांव रावर करनाल निवासी दिव्यांग मंगतराम को साढ़े तीन लाख रुपये हत्या की सुपारी का ऑफर किया। जिसमे डेढ़ लाख रुपये मंगतराम को दे दिए गए। मंगत ने गांव रावर निवासी संदीप तथा प्रदीप को ज्योति की हत्या के लिए हायर कर लिया।

30 अक्टूबर 2014 को दोनों आरोपित ज्योति के मकान पर पहुंचे और खुद को ज्योति के भाई के दोस्त बताया। रात को प्रदीप ने ज्योति के पेट में तेजधार हथियार घोंप दिया, जबकि संदीप ने तेजधार हथियार से गर्दन पर वार कर दिया। वारदात को अंजाम देकर दोनों आरोपित फरार हो गए थे। पुलिस ने आरोपित सोमपाल को अदालत में पेश किया।

जहां से अदालत ने आरोपित को एक दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया। सफीदों सीआईए निरीक्षक पवन कुमार ने बताया कि जेठ ने ही अपने छोटे भाई की पत्नी की हत्या सुपारी देकर करवाई थी। पिछले पांच साल से मामला ब्लाइंड बना हुआ था। छोटे भाई की मौत के संदेह के चलते उसकी पत्नी की हत्या की गई थी। फिलहाल आरोपित को एक दिन के रिमांड पर लिया गया है।

Next Story
Share it
Top