Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लापरवाही: जानिए, कैसे शिक्षा बोर्ड ने 14 साल की छात्रा को 114 वर्ष का बना दिया

ज्योति की नजर जैसे ही मार्कशीट पर पड़ी वह इसे देखकर अचेत होकर गिर पड़ी।

लापरवाही: जानिए, कैसे  शिक्षा बोर्ड ने 14 साल की छात्रा को 114 वर्ष का बना दिया
बवानीखेड़ा. दूसरों को नसीहत खुद मियां फजीहत वाली कहावत हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड पर स्टीक बैठती नजर आ रही है। शिक्षा बोर्ड द्वारा 10 कक्षा की 14 वर्ष की लड़की को 114 वर्ष की दिखा सभी को हैरानी में डाल दिया है। अब इसे ठीक करवाने के लिए परिजनों को बोर्ड के चक्कर काटने पड़ेगें। जानकारी देते हुए राजेश कुमार निवासी कुंगड़ ने बताया कि उसकी बहन ज्योति की जन्मतिथि 25 जून 2000 है जिसने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कुंगड़ विद्यालय से रोल नं. 2213439431 के तहत हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के आधीन 10वीं क क्षा की परीक्षा दी थी जिसमें उसने 06.40 ग्रेड हासिल की।
जब उसकी 10वीं कक्षा की मार्कशीट विद्यालय में आई तो उसमें उसकी बहन ज्योति की जन्मतिथि 25 जून 1900 मिली। जिसे देखकर पूरे परिवार को झटका लगा। इतना ही नहीं उसकी बहन ज्योति इसे देखकर अचेत होकर गिर पड़ी। वहीं ज्योति ने बताया कि शिक्षा बोर्ड का यह कारनामा बहुत ही भयावह है। जहां वह 14 वर्ष है लेकिन शिक्षा बोर्ड के कारनामें से वह 114 वर्ष की हो गई है। बोर्ड की इस गलती से उन्हें अब बोर्ड के चक्कर काटने के लिए भटकना होगा।
असम की बच्ची को कैद कर डॉक्टर ने किया अत्‍याचार प्रताड़ना:
टाटीबंध इलाके में आसाम की एक बच्ची को कैद कर प्रताड़ना की घटना सामने आई है। आरोप है, एक डॉक्टर ने डेढ़ साल से बच्ची को कैद कर मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया। किसी तरह मासूम उसके चंगुल से भाग निकली। पुलिस तक आने पर डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज हो सका।
मंगलवार को आमानाका थाना पुलिस ने घटना की पुष्टि करते हुए महिला डॉक्टर रमन साहनी व एक अज्ञात के खिलाफ धारा 370 के तहत जुर्म दर्ज करना बताया। बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष अमित चौरसिया की रिपोर्ट पर कार्रवाई की। पुलिस के मुताबिक डॉक्टर ने 10 वर्षीय बच्ची सुमन लकड़ा पिता जीनियूश को कैद कर रखा था। आरोप है, डेढ़ साल घर में बंद कर मानसिक व शारीरिक रूप से परेशान करती रही। बीते 26 जून की शाम बच्ची किसी तरह घर से भाग निकली।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, छात्रा ने की आत्महत्या -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top