Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नशे में धुत बेटे से बाप का हुआ झगड़ा, सिर में चोट लगने से बेटे की मौत

नशे ने एक बेटे को अपने मां-बाप की सेवा करने के लिए श्रवण कुमार नहीं बन पाया। गांव नंदगढ़ निवासी सतवीर ने अपने बेटे 25 वर्षीय राकेश को डंडा मार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। राकेश की मौत का कारण उसके द्वारा किया जाने वाला नशा रहा है।

नशे में धुत बेटे से बाप का हुआ झगड़ा, सिर में चोट लगने से बेटे की मौत

जुलाना गांव नंदगढ़ में नशे ने एक परिवार को बिखेरने का काम का काम किया है। नशे में धुत बेटे से पिता का झगड़ा हो गया। आपसी झगड़े में बेटे की सिर में डंडा लगने से मौत हो गई है।

गांव नंदगढ़ निवासी सतवीर ने अपने बेटे 25 वर्षीय राकेश को डंडा मार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। राकेश की मौत का कारण उसके द्वारा किया जाने वाला नशा रहा है। क्योंकि अक्सर राकेश अपनी खेतीबाड़ी छोड़कर नशे में धुत रहता था। वह नशे की राह पर इस कदर दौड़ पड़ा था कि उसे अपने भाई और माता-पिता का कोई ख्याल नहीं रख रहा था। राकेश नशे में धुत होकर अपने माता-पिता साथ गाली गलोच और मार-पिटाई करता था। बताया जाता है कि राकेश के पिता सतवीर ने कई बार उसे नशे की लत छुड़वाने के लिए खेती-बाड़ी के कार्य में लगाया था।

इसके लिए सतबीर ने कई लाख रुपये लगाकर उसे कृषि का काम सौंपा था। लेकिन राकेश ने वह कृषि का सामान नशे के चक्कर में बेच दिया था। उसके बावजूद भी पिता सतवीर ने बेटे को सही रास्ते पर लाने के लिए उसे फिर से जमीन को समतल करने की मशीन कल्टीवेटर खरीद कर दी थी। ताकि वह इस मशीन से काम करके रुपए कमा सके। राकेश अपनी हरकतों से बाज नहीं आया और नशे की राह से हटने का नाम नहीं ले रहा था।

बेटे की मौत का यह रहा कारण

गत दिवस राकेश ने नशे में धुत होकर माता-पिता के रिश्ते की सारी मर्यादाओं को लांघने का काम किया। जो उसकी मौत का कारण बन गई। देर सायं राकेश ने नशे में घर पहुंच कर अपनी माता को घर से बाहर निकाल दिया। इसके अलावा अपने पिता सतवीर के साथ गाली गलोच करते हुए मार पिटाई शुरू कर दी। बात मरने मारने तक आ पहुंची। इसमेंं सतवीर ने ताव में आकर राकेश के सिर पर डंडे से वार कर दिया। जिससे वह सुन होकर जमीन पर गिर पड़ा। परिजनों द्वारा राकेश को गंभीर हालत में रोहतक के पीजीआई लाया गया। यहां पर चिकित्सकों ने राकेश को मृत घोषित कर दिया।

पिता को जाना पड़ेगा जेल

सतवीर में अपने बुढ़ापे का सहारा बनाने के लिए दो बेटों की परवरिश की थी ताकि सतवीर और उसकी पत्नी का बुढ़ापे में दोनों बेटे सहारा बन सके। लेकिन सतवीर का यह सपना साकार नहीं हो पाया। क्योंकि छोटे बेटे दोबारा नशे के मार्ग पर चलने से वह काफी हताश और दुखी रहा। उसके द्वारा अपने बेटे को नशे की राख से हटाने के लिए काफी पर्यटन की लेकिन वह पर्यटन कोई काम नहीं आ सके। बेटे के जुल्मों से बचने के लिए सतवीर ने अपने बेटे राकेश को मार दिया ऐसे में अब सतवीर को अपने बेटे राकेश की मौत करने के जुर्म में जेल जाना पड़ेगा

पिता के खिलाफ मामला दर्ज

जुलाना थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि गांव नंदगढ़ में बाप बेटे के झगड़े में बेटे की मौत हो गई हैं। पुलिस ने मृतक के भाई राजवीर की शिकायत पर पिता के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


Next Story
Top