Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

देशभर में लॉकडाउन के बावजूद इन फैक्ट्रियों में चल रहा काम, फैल सकता है कोरोना वायरस

हरियाणा के सांपला में देशभर में लागू हुए लॉकडाउन के चलते सांपला इलाके में दो फैक्ट्री में लॉकडाउन नहीं है। किसी कर्मचारी की शिकायत पर पहुंचे प्रशासन को भी बिना कोई कार्रवाई के वापिस लौटना पड़ा। कोरोना वायरस को लेकर देश भर में धारा 144 लागू है। लेकिन प्रशासन ने दो फैक्ट्रियों को छूट दी हुई है। जिसमें काफी संख्या में कर्मचारी काम कर रहे हैं।

देशभर में लॉकडाउन के बावजूद इन फैक्ट्रियों में चल रहा काम, फैल सकता है कोरोना वायरसHaryana Criminal Loot Haryana Police

हरियाणा के सांपला में देशभर में लागू हुए लॉकडाउन के चलते सांपला इलाके में दो फैक्ट्री में लॉकडाउन नहीं है। किसी कर्मचारी की शिकायत पर पहुंचे प्रशासन को भी बिना कोई कार्रवाई के वापिस लौटना पड़ा। कोरोना वायरस को लेकर देश भर में धारा 144 लागू है। लेकिन प्रशासन ने दो फैक्ट्रियों को छूट दी हुई है। जिसमें काफी संख्या में कर्मचारी काम कर रहे हैं।

किसी कर्मचारी ने फैक्ट्री मालिक द्वारा कर्मचारियों से जबरदस्ती से काम कराने संबंधी शिकायत लेबर कोर्ट में दे दी। बुधवार को एसडीएम नवदीप नैन के निर्देश पर लेबर इंस्पेक्टर पुलिस व तहसीलदार राकेश कुमार फैक्ट्री में पहुंचे। फैक्ट्री का मैन गेट बंद मिला। जिसको पुलिस ने खुलवाकर देखा तो उसके अंदर काम चल रहा था। तहसीलदार ने फैक्ट्री मैनेजर से काम जारी रखने के कागजात मांगे तो जिला प्रशासन की ओर से जारी अनुमति पत्र दिखाया।

इसके बाद प्रशासन वापिस लौट आया। इसी तरह का मामला हसनगढ़ में था। वहां पर भी कर्मचारियों ने पुलिस को सूचना दी। थाना सांपला प्रभारी कुलबीर सिंह का कहना है कि हसनगढ़ फैक्ट्री मालिक ने भी काम जारी रखने की परमिशन ले रखी है। उधर, कर्मचारियों का कहना है कि पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है। जबकि उनसे फैक्ट्री मालिक काम ले रहा है। उन्हें अपनी जान का खतरा है। उन्हें डर है कहीं वे भी कोरोना नामक घातक बीमारी की चपेट मे न आ जाएं।

एसडीएम नवदीप नैन ने बताया कि किसी ने लैबर इंस्पेक्टर को एक फैक्ट्री में कर्मचारियों को बंधक बनाने की शिकायत की थी। मौके पर तहसीलदार व पुलिस भेज कर जांच कराई गई। फैक्टरी मैनेजर ने परमिशन ले रखी थी। इसके अलावा कर्मचारियों के भी ब्यान दर्ज कराए, लेकिन किसी ने कोई शिकायत नहीं की। इस फैक्ट्री में लोगों की जरूरत का सामान तैयार होता है, इसलिए उपायुक्त ने परमिशन दे रखी है।

Next Story
Top