Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haryana : कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा, गरीबों को दिए जाने वाले राशन में हो रही धांधली

प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा (Selja Kumari) ने कहा कि प्रदेश में बड़े स्तर पर गरीब लोगों को दिए जाने वाले राशन में धांधली सामने आ रही हैं। जिन गरीबों को राशन दिया जाना चाहिए, उनके लिस्ट में नाम ही नहीं है।

Haryana : कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा, गरीबों को दिए जाने वाले राशन में हो रही धांधली

चंडीगढ़। हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष सैलजा(Haryana Congress President Selja) ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में बड़े स्तर पर गरीब लोगों को दिए जाने वाले राशन में धांधली (Fraud) सामने आ रही हैं। उन्होंने कहा कि डिस्ट्रेस राशन टोकन(Token) के जरिए जो राशन गरीबों को दिया जाना है, उसमें उन लोगों को शामिल कर लिया गया, जो राशन के हकदार ही नहीं हैं। हैरानी की बात तो यह है कि इन लोगों ने इसके लिए कोई आवेदन भी नहीं किया है, फिर भी इन लोगों के नाम डिस्ट्रेस राशन टोकन की लिस्ट में शामिल हैं। जिन गरीबों को राशन दिया जाना चाहिए, उनके लिस्ट में नाम ही नहीं है।

सैलजा ने कहा कि गरीब लोगों को परेशान करने के लिए सबसे पहले हरियाणा सरकार द्वारा राशन देने के लिए एक फॉर्म निकाला गया, फिर जब लोग यह फॉर्म भरकर पहुंचे तो उन्हें एक दूसरा फॉर्म थमा दिया गया। फिर इस सरकार द्वारा लोगों को कहा गया कि बीएलओ के द्वारा सर्वे करवाया जाएगा। गरीब लोगों को परेशान करने से इस सरकार का फिर भी पेट नहीं भरा तो सरकार के द्वारा प्रदेश के हर जिले में उपायुक्त के अंतर्गत कमेटी का गठन करने का एलान कर दिया गया। जिसमें भाजपा कार्यकर्ताओं को भी शामिल कर लिया गया। लेकिन इसके बाद धांधली का असली खेल शुरू हो गया। अब जो डिस्ट्रेस राशन टोकन गरीबों को राशन देने के लिए जारी किए गए हैं, वह उन लोगों के नाम जारी कर दिए गए, जिनकी बड़ी-बड़ी कोठियां है और उनके घर में बड़ी-बड़ी गाड़ियां खड़ी हैं। जबकि राशन के हक़दार गरीब लोगों को यह टोकन जारी नहीं किए गए।

सैलजा ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ हुई सर्वदलीय बैठक में विपक्षी पार्टियों के कार्यकर्ताओं को भी जिला स्तर पर बनी इन कमेटियों में शामिल करने का अनुरोध किया था, जिसे कि खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वीकार भी किया था। लेकिन आज तक किसी भी विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ता को इन कमेटियों में शामिल नहीं किया गया है।


Next Story
Top