Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम मनोहर लाल खट्टर बोले, दो साल में देंगे 1 लाख लोगों को रोजगार

मुख्यमंत्री मनोहर लाल रविवार को करनाल विधानसभा क्षेत्र के गांव काछवा के नवनिर्मित सामुदायिक केन्द्र से पुण्डरक, काछवा व डबरी गांव के लिए करीब 3 करोड़ 52 लाख रुपए की लागत से तैयार हुए सामुदायिक केन्द्रों के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे।

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, नॉन टीचिंग-टीचिंग स्टाफ को मिलने वाली सुविधाओं पर लगायी रोक
X
मुख्यमंत्री मनोहर लाल (फाइल)

मुख्यमंत्री ने काछवा के सामुदायिक केन्द्र से 3 करोड़ 52 लाख रुपए के विकास कार्यों का किया उद्घाटन, प्रदेश के विकास को आगे बढ़ाने के लिए नए बजट में प्रदेश के लोगों को मिल रही हैं झलकियां, हरियाणा सरकार बच्चे से लेकर हर नागरिक के अंतिम सांस तक सहयोग के लिए रहेगी प्रयासरत। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा सरकार ने प्रदेश में युवाओं को रोजगार देने की चिंता की है, पिछले 5 वर्षों में भी 80 हजार युवाओं रोजगार दिया गया है और आने वाले दो वर्षो में केन्द्र व राज्य सरकार के करीब 1 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। युवाओं को चाहिए की वह सरकारी नौकरियों की ओर अपना रूझान न बनाकर अपने अंदर ऐसी स्किल पैदा करें कि वे बड़ी-बड़ी कम्पनियों में भी रोजगार प्राप्त करें।

इसके लिए हरियाणा सरकार हर सम्भव शिक्षा के क्षेत्र में विशेष कदम उठा रही है, ताकि छोटे बच्चे से नौजवान तक बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सके। हरियाणा सरकार बच्चे से लेकर अंतिम श्वासों तक प्रदेश के नागरिक का सहयोग करने के लिए प्रयासरत रहेगी। इसके लिए उन्होंने वर्ष 2020-21 के बजट में कुछ झलकी को प्रदर्शित भी किया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल रविवार को करनाल विधानसभा क्षेत्र के गांव काछवा के नवनिर्मित सामुदायिक केन्द्र से पुण्डरक, काछवा व डबरी गांव के लिए करीब

3 करोड़ 52 लाख रुपए की लागत से तैयार हुए सामुदायिक केन्द्रों के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 प्रदेश के आम आदमी का बजट है। इस बजट में शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, सुरक्षा के साथ-साथ हर वर्ग का ध्यान रखा गया है, जो बजट से प्रभावित होते हैं। उन्होंने कहा कि बजट तैयार करने से पहले युवाओं, उद्योगपतियों, किसानो, व्यापारियों, खिलाडिय़ों, महिलाओं, कृषि संगठनो, विधायको व सांसदो के साथ-साथ सम्बंधित विभाग के अधिकारियों से भी बातचीत करके बजट को अंतिम रूप दिया।

इस अवसर पर पूर्व विधायक सरदार बख्शीश सिंह, उपायुक्त निशांत कुमार यादव, पुलिस अधीक्षक एस.एस. भौरिया, अतिरिक्त उपायुक्त अनीश यादव व पंचायती राज के अधीक्षण अभियंता रामफल, पंजाबी साहित्य अकादमी के उपाध्यक्ष सरदार गुरविंदर सिंह धमीजा, भाजपा के जिला महामंत्री योगेन्द्र राणा व राजबीर शर्मा, मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय बठला, तालाब एवं जल अपशिष्ट प्रबंधन के सदस्य तेेजिन्द्र सिंह तेजी, मण्डल अध्यक्ष राजेश अग्घी, भाजपा नेता शमशेर नैन, सरपंच अजय कुमार, पूर्व सरपंच बिट्टू, भगवान दास अग्घी, सतपाल सिंह पाल सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

अब प्रदेश में पंचायती राज व नगर पालिका खुद करेगी अपने विकास कार्य, हर विधानसभा में दिए जाएंगे 80 करोड़ रुपए, विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं-मुख्यमंत्री मनोहर लाल। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा सरकार हर विधानसभा में प्रति वर्ष विकास कार्यों के लिए 80 करोड़ रुपए देगी। इस राशि में से गांव के लोगों को सरपंच की अध्यक्षता में योजना बनानी होगी कि कौन से काम को कैसे करना है और किसको प्राथमिकता देनी है। अब गांव का विकास पंचायत करेगी और शहरो का विकास नगर निगम व नगर पालिका के पार्षद व चेयरमैन करेंगे। शहरो और गांव की सरकार खुद चुने हुए प्रतिनिधि को ग्रामीण व शहर के आम नागरिक के सहयोग से चलानी होगी, तभी विकास को गति मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, लोक निर्माण विभाग व अन्य विभागो के कार्यों के लिए अलग से सरकार द्वारा बजट दिया जाएगा। सभी लोग साल का बजट बनाए कि वर्षभर कौन सा विकास करना है, किसे प्राथमिकता देनी है, उसे संज्ञान में लांए, तो उस पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी। यह कार्य नए बजट 1 अप्रैल 2020 से प्रारम्भ हो जाएगा।

अब गांव में आपसी रजामंदी से होंगे विकास कार्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के विकास के लिए हमने पंचायतो पर विश्वास किया है। प्रदेश की पंचायत अच्छे से कार्य कर रही हैं। आम आदमी को भी पंचायतो से जुडकर अपने गांव में विकास कार्यों को गति देनी होगी। यदि कोई पंचायत गलत काम करती है, तो ग्रामीणो को आवाज उठानी होगी। गलत काम बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं होगा, विकास के लिए हर पैसे का सदुपयोग हो, इसकी चिंता आम नागरिक को भी होनी जरूरी है।

प्रदेश के श्मशान घाटों को विकसित करने पर खर्च किए 750 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पिछले वर्षों में हमारी सरकार ने सभी श्मशान घाटो को विकसित किया गया है, इस पर 750 करोड़ रूपया खर्च आया है। उन्होंने बताया कि यदि ओर भी कोई श्मशान घाट पर कार्य होना है, तो उसके लिए भी बजट की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया कि वह श्मशान घाट को जातिगत में न अपनाए, बल्कि गांव में एक ही श्मशान घाट बनाएं।

विकास के लिए आपसी तालमेल से धन इकठ्ठा करके सरकार से प्राप्त करें मेचिंग ग्रांट

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ग्रामीणो से कहा कि विकास के लिए सरकार के पास धन की कोई कमी नहीं है, फिर भी ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के लोगों को विकास के लिए आपसी तालमेल से धन इकठ्ठा करना चाहिए, जितना धन इकठ्ठा किया जाएगा, उतना ही विकास कार्य के लिए हरियाणा सरकार मेचिंग ग्रांट के रूप में देने के लिए तैयार है। इससे विकास में भी बढ़ौतरी होगी और लोगो का भी विकास के साथ अपनापन नजर आएगा।

जिला परिषद को विकास के लिए दिए जाएंगे 25 करोड़ रुपए

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में ओर अधिक विकास हो, पंचायत के अतिरिक्त जिला परिषद को भी 25 करोर्ड़ विकास के लिए देने का निर्णय लिया है कि वह भी अपने क्षेत्र में अपने स्तर पर विकास करवा सकें और इसी तर्ज पर नगर निगम को भी विकास के लिए अतिरिक्त बजट दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए हर गांव व शहर का विकास जरूरी है, इसके लिए उनका प्रयास हर सम्भव जारी रहेगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने काछवा पंचायत द्वारा मांग पत्र को स्वीकार करते हुए कहा कि अब जो गांव में विकास होना है, वह पंचायत अपने-आप करेगी। इसके लिए 1 अप्रैल से सभी गांव में ग्रांट भेज दी जाएगी, पंरतु जो मांग पत्र में गांव के पशुपालन अस्पताल की बिल्डिंग की मरम्मत होनी है, उन्होंने इस बिल्डिंग की मरम्मत के लिए 30 लाख रुपए अनुदान देने की घोषणा की।

Next Story