Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

विजिलेंस ने क्लर्क को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों किया गिरफ्तार, इतने रुपये मांगी थी रिश्वत

सीवन तहसील में रिश्वत का मामला सामने आया है। दस दिनों से परेशान होने के बाद शिकायतकर्ता ने तंग आकर अंबाला विजीलेंस को शिकायत की थी। विवाह प्रमाण पत्र देने को लेकर वह शिकायत कर्ता से तीन हजार रुपये की मांग कर रहा था। बिजिलेंस टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

कम राशि का एस्टीमेंट बनाने के लिए 10 हजार मांगने के आरोपी जेई को किया चार्जशीटजेई को रिश्वत मांगना पड़ा भारी (सांकेतिक फोटो)

सीवन तहसील में डीसी रेट पर लिपिक पद पर कार्यरत क्लर्क को विवाह प्रमाण पत्र बनाने की आड़ में तीन हजार रुपये लेते हुए बिजिलेंस टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया। विवाह प्रमाण पत्र देने को लेकर वह शिकायत कर्ता से तीन हजार रुपये की मांग कर रहा था।

लगभग दस दिनों से परेशान होने के बाद शिकायतकर्ता ने तंग आकर अंबाला बिजीलेंस को शिकायत की थी। शिकायतकर्ता फूल सिंह निवासी सौथा ने बताया कि उसकी कुछ दिन पहले ही शादी हुई थी। उसके ससुराल वालों को विवाह प्रमाण पत्र के माध्यम से सरकारी स्कीम के तहत राशि मिलनी थी।

इसे लेकर फूल सिंह ने 25 जनवरी 2020 को अपनी शादी का विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए सीवन तहसील में कागजात जमा करवाए थे। इसके बाद वह प्रमाण पत्र लेने के लिए लगभग दस दिन तक चक्कर लगाता रहा। क्लर्क जसबीर सिंह वासी मानस ने उसे कहा कि प्रमाण पत्र तैयार है तीन हजार रुपये देकर प्रमाण ले जा सकता है लेकिन वह मजदूरी करता है। उसने इतनी राशि देने से मना कर दिया लेकिन क्लर्क तीन हजार रुपये लेने की बात पर अड़ा रहा।

इसको देखते हुए फूल सिंह ने इस मामले की शिकायत अंबाला बिजिलेंस में की और जिसके बाद बिजिलेंस ने टीम गठित कर सीवन तहसील में रेड की। जैसे ही शिकायतकर्ता ने आरोपी क्लर्क को तीन हजार की राशि दी तो इशारा पाते ही टीम ने आरोपी क्लर्क को मौके पर काबू कर लिया। आरोपी क्लर्क के कब्ज से टीम ने तीन हजार की राशि भी बरामद कर ली है। आरोपी क्लर्क के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।


Next Story
Top