Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

‘बारात और रेस के घोड़े’ पर सियासी बखेड़ा, कुमारी सैलजा और हुड्डा खेमे में विवाद

मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का कथित तौर पर रेस के घोड़े और बारात के घोड़े संबंधी बयान तिल का ताड़ बनता दिख रहा है।

‘बारात और रेस के घोड़े’ पर सियासी बखेड़ा, कुमारी सैलजा और हुड्डा खेमे में विवाद
चंडीगढ़. कैबिनेट मीटिंग के बाद में मीडिया से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का कथित तौर पर रेस के घोड़े और बारात के घोड़े संबंधी बयान तिल का ताड़ बनता दिख रहा है। इस बयान को लेकर आक्रामक विपक्ष ने सूबे में सियासी बखेड़ा खड़ा कर दिया है। हजकां, इनेलो और भाजपा ने इसे महिलाओं का अपमान बताया है, तो इसके जरिये कांग्रेस की वरिष्ठ नेता कुमारी सैलजा के सर्मथकों को भी हुड्डा खेमे पर हमला करने का मौका मिल गया है।
इस विवादित पर वीरवार को राजधानी के सियासी हल्कों में दिनभर राजनीतिक माहौल गर्म रहा। सैलजा सर्मथकों को जहां सीएम खेमे के विरुद्ध भड़ास निकालने का मौका मिला, वहीं विपक्ष भी इस पर पूरी राजनीति करने उतर गया। भाजपा विधायक दल के नेता अनिल विज ने इसे महिलाओं का अपमान बताते हुए माफी मांगने की बात कही है। उनका कहना है कि राज्यसभा अपर सदन का यह खुला अपमान है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को- फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए कैसे शुरु हुआ ये विवाद-

Next Story
Share it
Top