Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

5 साल से बाइक के नंबर पर चल रही थी ऑडी, क्राइम ब्रांच ने दर्ज किया मुकदमा

आरोपी गाड़ी मालिक ने कहा कि कर्ज के चुकाने की ऐवज में पड़ोसी ने उनके पिता को यह कार दी थी। अब उनके पिता की मृत्यु हो चुकी है। उन्हें नहीं मालूम था कि था कि कार का नंबर और आरसी फर्जी है।

5 साल से बाइक के नंबर पर चल रही थी ऑडी, क्राइम ब्रांच ने दर्ज किया मुकदमा

फरीदाबाद। पिछले पांच साल से 75 लाख रुपये की ऑडी क्यू.7 कार मोटरसाइकिल की नंबर प्लेट पर चल रही थी। क्राइम ब्रांच ने इस कार को कब्जे में लिया है। एनआइटी.5 थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

क्राइम ब्रांच प्रभारी संजीव कुमार ने बताया कि मुखबिर ने उन्हें सूचना दी थी कि एनआइटी.5 में पेट्रोल पंप के बाहर खड़ी ऑडी पर मोटरसाइकिल की नंबर प्लेट है। उन्होंने टीम के साथ मौके पर छापा मारा। कार में दो युवक बैठे मिले। उनसे आरसी लेकर जांच कराई। पता चला कि कार पर लिखा गया नंबर किसी मोटरसाइकिल का है। उन्होंने तुरंत कार कब्जे में ले ली।

नहीं मालूम था कार का नंबर प्लेट है फर्जी

कार में बैठे मिले सेक्टर.21, निवासी दोनों युवकों को पूछताछ के लिए बुलाया गया। तब दोनों ने बताया कि सेक्टर.21ए में रहने वाले एक पड़ोसी ने उनके पिता से कर्ज लिया था। कर्ज के चुकाने की ऐवज में पड़ोसी ने उनके पिता को यह कार दी थी। अब उनके पिता की मृत्यु हो चुकी है। उन्हें नहीं मालूम था कि था कि कार का नंबर और आरसी फर्जी है।

पुलिस चेचिस नंबर से जुटा रही जानकारी

पुलिस ने दोनों युवकों की शिकायत पर कार देने वाले के खिलाफ एनआइटी.5 थाने में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस को पता चला है कि कार 2014 मॉडल की है। यानि करीब पांच साल से यह कार बाइक के नंबर पर चल रही थी। अब पुलिस कार के चेचिस नंबर से उसकी पूरी जानकारी जुटा रही है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश होगा। हैरानी की बात तो यह भी है कि पिछले पांच साल के दौरान यह कार सड़कों पर दौड़ती रही, लेकिन ट्रैफिक पुलिस इससे अनजान रही।

Next Story
Top