Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Boxing Federation of India ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए अमित पंघाल के नाम की सिफारिश की

सेना के बाद अब राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में सिल्वर जीतने वाले देश के पहले पुरुष मुक्केबाज अमित पंघाल के नाम की सिफारिश बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने की है।

Boxing Federation of India ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए अमित पंघाल के नाम की सिफारिश की
X
मुक्केबाज अमित पंघाल(फाइल फोटो)

सेना के बाद बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (Boxing Federation of India) ने भी राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में सिल्वर जीतने वाले देश के पहले पुरुष मुक्केबाज अमित पंघाल Amit Panghal) के नाम की सिफारिश की है। केंद्रीय खेल मंत्रालय ने इस साल कोरोना की वजह से खिलाड़ियों से ऑनलाइन आवेदन मंगाए हैं।नाम भेजने की आखिरी तारीख तीन जून है।

इससे पहले विशिष्ट सेवा मेडल प्राप्त कर चुके मुक्केबाज सूबेदार अमित पंघाल के नाम की सिफारिश सेना की ओर से की गई थी, अब बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी उनका नामंकन भेज कर उनके नाम की सिफारिश की है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय खेल अवॉर्ड के नामांकन की शुरुआत अप्रैल में होनी थी, लेकिन कोरोना वायरस के खतरे के चलते इसे ऑनलाइन का दिया गया है और देशभर में नामांकन भेजने की अंतिम तारीख तीन जून है। उल्लेखनीय है कि विभिन्न खेलों के लिए एथलीटों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार दिए जाते हैं

राष्ट्रीय खेल में देश का सर्वोच्च खेल पुरस्कार खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड भी शामिल हैं। कोचों को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है, जबकि लाइफटाइम योगदान के लिए ध्यानचंद अवॉर्ड दिया जाता है। इस वर्ष खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड के लिए जनवरी 2016 से दिसंबर 2019 तक के प्रदर्शन को ध्यान में रखा जाएगा।

खेल पुरस्कारों की चयन प्रक्रिया में बदलाव की मांग की थी

मुक्केबाज अमित पंघाल खेल मंत्री किरेन रिजिजू को पत्र लिखकर राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों की चयन प्रक्रिया में बदलाव की मांग कर चुके हैं। उन्होंने कहा था इस पुरस्कार के लिए खिलाड़ियों को नाम न भेजना पड़े। यह प्रक्रिया पारदर्शी नहीं है। दुनियाभर के ज्यादातर बड़े खेल पुरस्कार बिना नामांकन के दिए जाते हैं। खेल पुरस्कारों से जुड़ी मौजूदा व्यवस्था अंग्रेजों के समय से चली आ रही है।

Next Story