Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा की खाप पंचायत का अनोखा फरमान, जातिवाद को खत्म करने का दिया ये आइडिया

खाप पंचायतों के निर्णय अक्सर चर्चा में आ जाते हैं। कभी किसी को जूता मारने की सजा सुनाकर तो कभी पूरा गांव मिलकर किसी गरीब परिवार की बेटी का विवाह करवाकर। ऐसा ही एक मामला हरियाणा के जींद जिले के भौंसला गांव से आया है जहां जातिवाद को खत्म करने के लिए पंचायत ने बड़ा ही गजब का फैसला सुनाया है। इस फैसले के बाद हर किसी ने अपनी सहमति दी है।

हरियाणा की खाप पंचायत का अनोखा फरमान, जातिवाद को खत्म करने का दिया ये आइडियाbangar sarvjatiya kheda khap unique decision on castism in jind Haryana,

खाप पंचायतों के निर्णय अक्सर चर्चा में आ जाते हैं। कभी किसी को जूता मारने की सजा सुनाकर तो कभी पूरा गांव मिलकर किसी गरीब परिवार की बेटी का विवाह करवाकर। ऐसा ही एक मामला हरियाणा के जींद जिले के भौंसला गांव से आया है जहां जातिवाद को खत्म करने के लिए पंचायत ने बड़ा ही गजब का फैसला सुनाया है। इस फैसले के बाद हर किसी ने अपनी सहमति दी है।

जींद के भौंसला गांव में बांगड़ में सर्वजातीय खेड़ा खाप की बैठक हुई। बैठक में हर वर्ग के लोग पहुंचे। जातिवाद के जहर को खत्म करने को लेकर हुई इस बैठक में सभी वर्गों के वरिष्ठ लोगों ने अपनी राय रखी। सभी की बातों को सुनने के बाद पंचायत इस नतीजे पर पहुंची की अब कोई भी व्यक्ति अपने नाम के आगे अपना गोत्र नहीं लिखेगा। इससे जाति का पता चलता है।

जाति का पता न चले इसके लिए सभी अब अपने नाम के बाद गांव का नाम लिखेंगे। साथ ही अन्य गांवों में बैठकर इस मुहीम को राज्यस्तर तक ले जाने का भी फैसला किया गया। उन सभी पंचायतों, समाजसेवी व्यक्तियों और संस्थाओं को आपस में जोड़ा जाएगा जो इस फैसले को मानते हैं। जाति के जहर को खत्म करके आपसी भाईचारा को बढ़ावा देने का अभियान फिलहाल शुरू किया जा चुका है। ये कितना सफल होगा वह भविष्य के गर्भ में है।

खाप के प्रवक्ता ने कहा कि हर कोई अपने नाम के आगे अपनी गोत्र लिखता है जिससे ये पता चलता है कि वह अपनी जाति को बढ़ावा दे रहा है। साथ ही बड़ी जाति के लोग तो कई बार नाम के आगे भी अपनी जाति को जोड़कर लिखते व बताते हैं। प्रवक्ता ने बताया कि कई लोग अपने वाहनों पर जाति लिखवाकर गर्व महसूस कर रहे है। जबकि जाति पर गर्व करने जैसी कोई बात नहीं है।

Next Story
Share it
Top