Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Election 2019: टिकट वितरण में हुड्डा गुट प्रभावी, तंवर गुट का सफाया

पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर (Ashok Tanwar) के पद से हटाए जाने के बाद प्रदेश के साथ-साथ फरीदाबाद (Faridabad) व पलवल (Palwal) में जिले में भी राजनीतिक परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया। तंवर के अध्यक्ष रहते हुए इस बात की प्रबल संभावना बनी हुई थी कि हथीन विधानसभा क्षेत्र (Hathin Assembly Seats) से मोहम्मद बिलाल व बड़खल विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश उपाध्यक्ष डा. राधा नरूला (Dr. Radha Narula) को अवश्य प्रत्याशी बनाया जाएगा।

Haryana Assembly Election 2019:  टिकट वितरण में हुड्डा गुट प्रभावी, तंवर गुट का सफायाHaryana Election : Hooda Faction Effective In Ticket Distribution, Tanwar Faction Eliminated

वेट एण्ड वॉच पॉलिसी (Wait And Watch Policy) पर चलते हुए बुधवार रात आखिरकार कांग्रेस (Ashok Tanwar) ने भी फरीदाबाद व पलवल जिले (Faridabad And Palwal) के अन्तर्गत आने वाली सभी नौ विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी। नौ विधानसभा सीटों (Assembly Seats) में से तीन पर कांग्रेस ने युवा चेहरों को उतारा है। जबकि छह पर पुराने चेहरों पर ही दांव लगाया है। फरीदाबाद पलवल जिलेे की टिकट वितरण में कुल मिलाकर हुड्डा गुट की ही चली है तथा तंवर गुट का पूरी तरह से सफाया हुआ है। फरीदाबाद व पलवल जिले की टिकटों की घोषणा ने हरिभूमि द्वारा प्रकाशित खबर पर पक्की मोहर लगा दी है।

गौरतलब है कि पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर के पद से हटाए जाने के बाद प्रदेश के साथ-साथ फरीदाबाद व पलवल में जिले में भी राजनीतिक परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया। तंवर के अध्यक्ष रहते हुए इस बात की प्रबल संभावना बनी हुई थी कि हथीन विधानसभा क्षेत्र से मोहम्मद बिलाल व बड़खल विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश उपाध्यक्ष डा. राधा नरूला को अवश्य प्रत्याशी बनाया जाएगा।

तंवर के हटते ही प्रभावी हुआ हुड्डा गुट

तंवर के अध्यक्ष पद से हटने के बाद दोनों जिलों में हुड्डा गुट फिर से प्रभावी हो गया तथा इसका जीता जागता प्रमाण विगत दिनों सेक्टर-16 स्थित अनाज मण्डी में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान देखने को भी मिला। जब हुड्डा गुट से जुड़े टिकटार्थियों ने प्रदेशाध्यक्ष कु. सैलजा के समक्ष ही न सिर्फ अपने आपको टिकट की दौड़ में सबसे आगे शामिल दिखाया बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा को स्टेज से मुख्यमंत्री पद से भी सम्बोधित भी करते रहे।

कांग्रेस ने इन्हें बनाया उम्मीदवार

बुधवार रात कांग्रेस द्वारा घोषित फरीदाबाद व पलवल जिलों की नौ सीटों में से बड़खल विधानसभा क्षेत्र से पूर्व मंत्री महेन्द्र प्रताप सिंह के स्थान पर उनके मंझले पुत्र विजय प्रताप सिंह को प्रत्याशी, इसके अलावा एनआईटी विधानसभा क्षेत्र से पूर्व मंत्री स्व. पं. शिवचरण लाल शर्मा के कनिष्ठ पुत्र नीरज शर्मा को, जबकि हथीन विधानसभा से पूर्व मुख्य संसदीय सचिव मरहूम चौधरी चौ. जलेब खां के पुत्र मोहम्मद इसराइल को प्रत्याशी बनाया गया।

तमाम कयासों पर विराम लगाते हुए पूर्व विधायक आनन्द कौशिक को बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र भेज दिया गया। जबकि लखन सिंगला को फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया गया। तिगांव विधानसभा क्षेत्र से निर्वतमान विधायक ललित नागर को, पलवल से निर्वतमान विधायक करण सिंह दलाल, होडल से निर्वतमान विधायक उदयभान तथा पृथला विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक रघुबीर सिंह तेवतिया को प्रत्याशी बनाया गया।

ध्यान देने योग्य बात यहां है कि हरिभूमि ने पूर्व में ही इन सभी उम्मीदवारों के नाम व उनके विधानसभा क्षेत्रों के संदर्भ में समाचार प्रकाशित किया था तथा टिकट की घोषणा ने उक्त समाचार पर पुख्ता जानकारी व सत्यता पर मोहर लगा दी।

Next Story
Top