Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Haryana Assembly Election : कांग्रेस के लिए अपने ही नेता बने चुनौती, 36 नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) से पहले कांग्रेस में बगावत थम नहीं रही हैं। पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस (Congress) के कई नेता पार्टी को अलविदा कह चुके हैं। अब तक हरियाणा (Haryana) में कांग्रेस के 36 बड़े चेहरे पार्टी से इस्तीफा (Resign) दे चुके हैं।

Maharashtra Assembly Election 2019 Results: नांदेड़ की भोकर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अशोक चव्हाण आगेMaharashtra Assembly Election 2019 Results: नांदेड़ की भोकर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अशोक चव्हाण आगे

Haryana Assembly Election: हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए जहां एक तरफ सारे राजनीतिक दल पूरी ताकत के साथ चुनाव प्रचार में उतर चुके हैं। जबकि कांग्रेस की अंदरूनी कलह खत्म नहीं हो पा रही है। हर रोज कांग्रेस (Congress) को बड़ा झटका झेलना पड़ रहा है। क्योंकि नेताओं का कांग्रेस पार्टी छोड़ने का सिलसिला थम ही नहीं रहा है। चुनावों की आचार संहिता लगने के बाद से अभी तक 36 नेता पार्टी छोड़ चुके हैं। जिसमें कांग्रेस के पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक से लेकर पार्टी के कई बड़े चेहरे शामिल हैं।

हरियाणा चुनावों में वरिष्ठ नेताओं को नजरअंदाज किए जाने से अधिकतर नेता नाराज हैं। इसके अलावा सिफारिशों को नजरअंदाज कर दूसरों को टिकट देना और पार्टी के अंदर गुटबाजी के कारण भी पार्टी छोड़ रहे हैं। एक तरफ जहां राहुल गांधी के खास नेता जैसे अशोक तंवर और उनके समर्थक हैं। वहीं दूसरी तरफ सोनिया गांधी के खास पूर्व सीएम हुड्डा और उनके खेमे के नेता शामिल हैं। लेकिन पार्टी को अलविदा कहने वालों में दोनों गुटों के चेहरे शामिल हैं।

22 पूर्व मंत्रियों ने किया अलविदा

अब तक कांग्रेस के 22 पूर्व मंत्री और विधायकों ने पार्टी को अलविदा कहा है। पार्टी छोड़ने वाले बड़े चेहरों में 36 नाम शामिल हैं। पूर्व सीएम हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) के खास नेता भी आज उनके खिलाफ खड़े हैं। पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष रह चुके अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ही खुद हुड्डा के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं। इसमें हर तरफ से फायदा विपक्ष को ही मिलने वाला है। हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 की कमान संभालने वाले नेता पूर्व सीएम हुड्डा और कुमारी शैलजा दोनों ही अपने-अपने स्तर पर बागी नेताओं की मनाने के पुरजोर प्रयासों में लगे हैं। लेकिन इसका कोई बड़ा प्रभाव नजर नहीं आ रहा है। इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के अपने नेता ही कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती हैं।

ये कांग्रेस के दिग्गज नेता पार्टी को अब तक अलविदा कह चुके हैं

विधानसभा क्षेत्र

नेता

सिरसा

अशोक तंवर (पूर्व प्रदेशाध्यक्ष), भूपेश मेहता (वरिष्ठ नेता)

महेंद्रगढ़

राधेश्याम शर्मा (पूर्व विधायक), सतीश शर्मा (जिला अध्यक्ष, कांग्रेस सेवा दल)

सोनीपत

पूर्व विधायक अनिल ठक्कर

फरीदाबाद

पूर्व मंत्री एसी चौधरी

रतिया

पूर्व मंत्री रामस्वरूप रामा

गुहला

पूर्व विधायक फूल सिंह खेड़ी

बादली

नरेश शर्मा (पूर्व विधायक), अभिषेक गुलिया, अरविंद गुलिया,

जगाधरी

पूर्व मंत्री सुभाष चौधरी

नलवा

पूर्व मंत्री संपत सिंह


बरवाला

पूर्व विधायक राम निवास घोड़ेला

उकलाना

पूर्व विधायक नरेश सेलवाल

बाढ़डा

कर्नल रघबीर (पूर्व विधायक), महा सिंह श्योराण, राजू मान, रण सिंह मान (पूर्व सीएपीएस)

रानियां

पूर्व मंत्री रणजीत चौटाला

कुरुक्षेत्र

कैलाशो सैनी, पूर्व सांसद

जींद

मांगे राम गुप्ता, पूर्व मंत्री

बल्लभगढ़

शारदा राठौर, पूर्व विधायक

दादरी

सतपाल सांगवान, पूर्व मंत्री

इंद्री

ईश्वर सिंह, पूर्व राज्यसभा सांसद

फतेहाबाद

दूड़ा राम, पूर्व विधायक

लाडवा

रमेश गुप्ता, पूर्व विधायक

अंबाला कैंट

निर्मल सिंह (पूर्व मंत्री), चित्रा सरवारा (पूर्व निगम पार्षद)

अंबाला सिटी

हिम्मत सिंह, पूर्व कांग्रेस उम्मीदवार

सोनीपत

सुमित्रा चौहान, पूर्व महिला कांग्रेस अध्यक्ष

नारनौंद

राजबीर संधू, पूर्व कांग्रेस उम्मीदवार

पुन्हाना

सुभान खां, पूर्व कांग्रेस उम्मीदवार

टोहना

देवेंद्र बबली, पूर्व प्रत्याशी

भिवानी

नीलम अग्रवाल, वरिष्ठ नेता

सफीदों

कांग्रेस नेता कर्मवीर सैनी


Next Story
Top