Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुषमा स्वराज के नाम पर रखा अंबाला बस अड्डे का नाम

परिवहन मंत्री अंबाला शहर के नवनिर्मित बस अडडे का नामकरण किया। हरियाणा के परिवहन मंत्री मूल चन्द शर्मा ने कहा कि अंबाला शहर का बस अडडा प्रदेश का पहला ऐसा बस अड्डा है। जिसका नाम पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज के नाम पर रखा गया है।

Sushma Swaraj Birthday : सुषमा स्वराज को देश की पहली महिला विदेश मंत्री होने का गौरव था प्राप्त, जानें 10 रोचक बातें
X
सुषमा स्वराज (फाइल फोटो)

हरियाणा के परिवहन मंत्री मूल चन्द शर्मा ने कहा कि अंबाला शहर का बस अडडा प्रदेश का पहला ऐसा बस अड्डा है, जिसका नाम पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज के नाम पर रखा गया है। अब यह बस अडडा सुषमा स्वराज बस अड्डा के नाम से जाना जाएगा। प्रदेश में अगले 6 महीने में 1500 नई बसें शामिल की जाएंगी, जिनमें पिंक बसें व वोल्वों बसें भी शामिल हैं।

परिवहन मंत्री अंबाला शहर के नवनिर्मित बस अडडे का नामकरण करने के उपरांत उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। यहां पंहुचने पर पुलिस की एक टुकड़ी ने परिवहन मंत्री को सलामी दी, वहीं अतिरिक्त उपायुक्त अंबाला जगदीप ढांडा व जीएम रोडवेज गौरी मिड्डा ने परिवहन मंत्री व स्थानीय विधायक असीम गोयल का स्वागत किया।

परिवहन मंत्री ने कहा कि 18 करोड़ रुपए की लागत से इस बस स्टैंड का निर्माण कार्य किया गया है और इस बस स्टैंड के निर्माण कार्य को करवाने में अम्बाला शहर के विधायक असीम गोयल का योगदान अहम है तथा आज बहन सुषमा स्वराज के नाम से बस स्टैंड का नामकरण किया गया है जोकि गर्व की बात है।

उन्होंने कहा कि इस बस स्टैंड में सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज एक राजनैतिक यूनिवर्सिटी रही हैं, उन्होंने देश को बहुत बड़े नेता, संासद दिए हैं। विपक्ष में रहते हुए भी उन्होंने देश व प्रदेश के लिए एतिहासिक कार्य किए हैं। पूरी दुनिया व देश उनके द्वारा किए गए कार्यों से भली-भांति परिचित है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से आज उनके नाम से बस स्टैंड का नाम रखा गया है, उसी प्रकार बल्लभगढ़ में भी बहुत बड़े महिला कालेज का नाम भी सुषमा स्वराज के नाम से रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि हम सबको मिलकर बहनजी के दिखाए गए रास्ते व उनकी मयार्दाओं पर चलकर देश व प्रदेश को आगे ले जाने का काम करना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में वर्तमान समय में रोडवेज में 3600 बसें हैं, जिनमें से 3200 बसें रोड पर चल रही हैं। समय के अनुरूप प्रदेश में 4500 बसों की जरूरत है।

बसें गरीब वर्ग का जहाज हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को बेहतर से बेहतर परिवहन सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में काम किए जा रहे हैं। अगले 6 महीने में 1500 बसें रोडवेज बेडें में शामिल की जाएंगी, जिनमें छात्राओं के लिए पिंक बसें भी शामिल रहेंगी, वहीं वोल्वो बसें भी बेडे में शामिल की जाएंगी ताकि लोगों को और बेहतर परिवहन सेवाएं हासिल हो सकें।


Next Story