Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हरियाणा : जहरीला कीड़ा खाने से 6 गाय व दो गौ वंशों की मौत

डेयरी में गायों को खिलाने के लिए मक्का के सिरटे लाये गए थे। बीती देर शाम को इन सिरटों को खाने से गायों की तबियत बिगड़ने लगी और देखते ही देखते 6 गायों व उनके दो बच्चों ने दम तोड़ दिया। इन सिरटों में कीड़े फैले हुए थे।

करनाल के एनडीआरआई में लाखों के पशुओं की मौत, वैज्ञानिकों की टीम जांच में जुटीFile Photo

बावल क्षेत्र के गांव प्राणपुरा स्थित एक डेयरी में मक्का के सिरटे में फैले जहरीले कीड़ों को खाने से 6 गायों व दो गौ वंश की मौत हो गई। एक बछिया को गंभीर हालत में उपचार देकर बचा लिया गया। जैसे ही गायों की मौत का समाचार पशु पालकों के बीच पहुंचा तो उनमें दहशत फैल गई।

समाचारों के अनुसार गांव प्राणपुरा में सुरेश एक डेयरी फार्म चलाते है। इस डेयरी में गायों को खिलाने के लिए मक्का के सिरटे लाये गए थे। बीती देर शाम को इन सिरटों को खाने से गायों की तबियत बिगड़ने लगी और देखते ही देखते 6 गायों व उनके दो बच्चों ने दम तोड़ दिया। इन सिरटों में कीड़े फैले हुए थे। जिसका डेयरी मालिक को पता नहीं चला।

सुरेश ने बताया कि ये गाय लगभग 32 किलो दूध रोजना देती थी। उसका गायों की मौत से लगभग 6 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। एक बछिया को अस्पताल ले जाकर बचा लिया गया। इधर मंगलवार को जैसे ही यह खबर पशुपालकों को मिली तो उनमें भी घबराहट फैल गई और उन्होंने मक्का के सिरटों को चैक करना शुरू कर दिया।

सूचना पाकर फरीदाबाद से न्यू इंडिया इन्श्योरेंस कम्पनी की सर्वेयर टीम के इंचार्ज राकेश वशिष्ठ गांव पहुंचे और पीड़ित पशुपालक सुरेश से मिले। सुरेश ने उन्हें बताया कि गायों के दूध को बेचकर उसने दो वक्त की रोटी का जुगाड़ कर रखा था। लेकिन अब वह पूरी तरह से बरबाद हो गया है। सर्वेयर टीम ने मृत गायों का पोस्टमार्टम कराया।

टीम के डा. राजेश महलावत ने कहा कि हरे चारे में जहरीले कीड़े वाले मक्का के सिरटे मिलाकर गायों को खिलाने से उनकी मौत हुई हैं। गांव के पूर्व सरपंच पन्नी लाल, राधे कृष्ण, नपा उपप्रधान चेतराम रेवाड़िया आदि ने पीड़ित पशु पालक को आर्थिक मदद की गुहार लगाई है।

Next Story
Top