Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

धान की खरीद फरोख्त में 48 लाख की धोखाधड़ी, पति-पत्नी व दो बेटों के खिलाफ मामला दर्ज

कैथल में धान की खरीद फरोख्त में 48 लाख की धोखाधड़ी करने के आरोप में शहर पुलिस ने एक मामला दर्ज किया है। पुलिस ने मामले में दंपत्ति व उसके दो बेटों को नामजद किया है।

प्रदेश में आज से होगी धान खरीदी, सरकार ने रखा 85 लाख मीट्रिक टन का लक्ष्यPaddy will be purchased in the state from today in Chhattisgarh

कैथल में धान की खरीद फरोख्त में 48 लाख की धोखाधड़ी करने के आरोप में शहर पुलिस ने एक मामला दर्ज किया है। पुलिस ने मामले में दंपत्ति व उसके दो बेटों को नामजद किया है। शहर पुलिस को दी शिकायत में सेक्टर 20 हुड्डा केथल के विजय कुमार ने आरोप लगाया है कि वह अनाज मंडी कैथल में अर्थ की दुकान करता है। उसने बताया कि धान के सीजन 2015-16 में सोनीपत के अमर चंद गुप्ता उसके पास आए।

अमरचंद ने उसे बताया कि राई सोनीपत में श्री बांके बिहारी एक्सपोर्ट के नाम से राइस मिल चलाया हुआ है। इसके अलावा दिल्ली में भी उसके कई आटा व दाल मिल हैं। उसने कहा कि वह अपने राई के राइस मिल के लिए कैथल की अनाज मंडी से अच्छी किस्म की जीरी खरीदना चाहता है जिससे वे अच्छा चावल बनाते हुए उसे विदेश में निर्यात कर देंगे। उसने यह भी आश्वासन दिया कि वह खरीदी गई जीरी की पेमेंट समय पर जाएगी।

शिकायतकर्ता ने बताया कि वह उसके झांसे में आ गया और कैथल अनाज मंडी से जीरी खरीद कर उसे भेजने की इच्छा जाहिर की। शिकायतकर्ता की मांग अनुसार उसने कैथल की अनाज मंडी से अपनी फर्म मैसर्स ओमप्रकाश अरुण कुमार के नाम से जीरी की खरीद करते हुए आरोपी के राई स्थित राइस मिल में भेज दी। उसने बताया कि आरोपी ने इसमें से कुछ गिरी की पेमेंट की लेकिन बाद में आनाकानी करने लगे। 17 फरवरी 2017 को शिकायतकर्ता को दोषी गणों की ओर से 96 लाख 30 हजार 574 रुपए की रकम तथा ब्याज भी बकाया था।

जब वह अपनी राशि लेने के लिए आरोपी अमर चंद गुप्ता, उसकी पत्नी सुशीला देवी, बेटा रामलाल गुप्ता और राजकुमार गुप्ता के यहां राइस मिल में गया तो उन्होंने बकाया पेमेंट देने से साफ इनकार कर दिया तथा जान से मारने की धमकी भी दी। जब उन्होंने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बात की तो आरोपियों ने एक प्लाट बेच कर दूसरी फर्म द्वारा उन्हें 4815870 रुपए का डिमांड ड्राफ्ट दिया और शेष राशि 3 महीने में अदा करने की बात कहते हुए समझौते पर उनके हस्ताक्षर करवा लिए।

उसने आरोप लगाया है कि आरोपियों ने उसकी बकाया 4815287 रुपए की राशि आज तक अदा नहीं की। जब भी वे आरोपियों से अपनी राशि की मांग की तो आरोपियों ने राशि देने से साफ इनकार कर दिया तथा उसे जान से मारने की धमकी भी दी। शिकायतकर्ता ने यह भी आरोप लगाया है कि राइ थाना में आरोपियों की अच्छी पहुंच है जिस कारण वे राई थाना में अपनी शिकायत को लेकर नहीं जा सकते। सीआईए पुलिस के एसआई बिजेंद्र सिंंह ने बताया कि पुलिस ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय से मिली शिकायत अनुसार उपरोक्त चारों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Next Story
Top