Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

10 साल की दोस्ती का हुआ दर्दनाक अंत, जानिए पीछे की वजह

दोस्ती एक ऐसा अनमोल रिश्ता जो कि जो कभी मिटता नहीं है। लेकिन हरियाणा के सिरसा में दोस्ती की मिशाल पेश की जानें वाली दोस्ती का बहुत ही दर्दनाक तरीके के साथ अंत हो गया है।

कारोबारी की हत्या का प्रयास, पुलिस चौकी के पास चलाई गोली
X
Attempt to kill Businessman, shot near police post

दोस्ती एक ऐसा अनमोल रिश्ता जो कि जो कभी मिटता नहीं है। लेकिन हरियाणा के सिरसा में दोस्ती की मिशाल पेश की जानें वाली दोस्ती का बहुत ही दर्दनाक तरीके के साथ अंत हो गया है। दरअसल दस साल पुरानी दोस्ती के अंत के पीछे की वजह वह रही है जो भाई को भाई से अलग कर देती है और कभी-कभी दुश्मनी भी पैदा कर देती है।

अलीपुर टीटूखेड़ा में एक दोस्त ने दूसरे दोस्त को पांच लाख रुपए दिए थे, इसकी के लेन-देन को लेकर एक दोस्त ने दूसरे जिगरी दोस्त की हत्या कर दी। इसी के साथ दोनों के बीच 10 से चली आ रही दोस्ती का भी शर्मसार तरीके से अंत हो गया।

खबरों के मुताबिक अलीपुर टीटूखेड़ा गांव का निवासी रविजोत अपने जिगरी दोस्त अमरीक के साथ रात कोई 10 बजे एक पार्टी से लौट रहा था। इस दौरान दोनों के बीच हिसार रोड दिल्ली पुल पर कुछ कहासुनी हो गई। बात इतनी बढ़ गई कि एक दोस्त अमरीक ने पिस्टल निकालकर अपने दोस्ती रविजोत की गोलीमार हत्या कर दी। गोली कूल्हे में लगी थी, जिसके बाद उसे गंभीर हालत में इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसकी रविवार दौपहर मौत हो गई।


10 साल से था दोस्ताना

रविजोत और अमरीक पिछले दस सालों से दोस्त थे। बताया जाता है कि दोनों के बीच गहरी दोस्ती थी। रविजोत ने लॉ ग्रेजुएट किया था, लेकिन उनसे वकालत शुरू नहीं की थी। रविजोत संभ्रांत परिवार से संबंध रखता था और पुश्तैनी जमीन की ही संभालता था। लेकिन रविजोत के दोस्त अमरीक शाहपुर बेगू का रहने वाला था उसकी पिछले कई सालों से आर्थिक स्थिति कुछ ठीक नहीं थी। अमरीक ने सिरसा की मंडी में मालवा ट्रेडिंग कंपनी के नाम से आढ़त का काम भी किया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story