Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
toggle-bar

Fact Check : दोपहिया वाहन को नहीं लगाना होगा हेलमेट, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है मैसेज

सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि अब दोपहिया वाहन को हेलमेट लगाना जरुरी नहीं होगा।

Fact Check : दोपहिया वाहन को नहीं लगाना होगा हेलमेट, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है मैसेज
X

Fact Check : सड़कों पर गाड़ी या दोपहिया वाहन को उतारने से पहले कई नियम बने हुए हैं। इनमें से एक नियम दोपहिया वाहनों के लिए यह भी है कि उन्हें हेलमेट पहनना जरुरी होता है। क्या हो जब ये कहा जाए कि दोपहिया वाहन के लिए अब हेलमेट लगाना जरुरी नहीं होगा। जी हां, ऐसा ही एक मैसेज सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस मैसेज को व्हाट्सएप के जरिए वायरल किया जा रहा है। वायरल हो रहे इस मैसेज में यह दावा किया जा रहा है कि सभी राज्यों में दोपहिया चालकों की हेलमेट चेकिंग को खारिज कर दिया गया है। क्या ऐसा सच में हुआ है, चलिए जानते हैं कि इसके पीछे की सच्चाई आखिर क्या है।

क्या लिखा है वायरल मैसेज में

वायरल मैसेज में लिखा है कि ब्रेकिंग न्यूज़... हेलमेट मुक्त.... अब सभी राज्योे में अभी तक की जो हेलमेट चेकिंग चल रही थी, उसको कोर्ट ने खारिज कर दिया है। सागरकुमार जैन की याचिका के मुताबिक महानगरपालिका की दायरों के अंदर हेलमेट का उपयोग वाहन चालक पर अब अनिवार्य नहीं होगा। सिर्फ जिस रास्ते को राज्य मार्ग या हाईवे का दर्जा प्राप्त हुआ है, वहां पर ही हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा। इसके बाद अगर कोई भी ट्रैफिक वाला या पुलिस वाला आपसे पूछता है कि हेलमेट क्यों नहीं पहना है, तो आप कह सकते हो कि मैं महानगरपालिका, नगरपालिका पंचायत समिति शहर के हद में हूं। इसके बाद इस मैसेज को ज्यादा से ज्यादा फैलाने का आग्रह भी किया गया है।

पड़ताल

अगर आपके पास भी इस तरह का कोई मैसेज आया है, तो अब आपको सावधान होने की जरूरत है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि ये मैसेज पूरी तरह से फर्जी है। इस मैसेज में कोई सच्चाई नहीं है। PIB की फैक्ट चेक टीम ने इस मैसेज की जांच की और इसको फर्जी बताया। PIB ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भारत सरकार ने ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया है, जिसमें दोपहिया चालकों की हेलमेट चेकिंग को खारिज करने के लिए कहा गया हो। यह दावा फर्जी है।

और पढ़ें
Next Story