Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Zomato ऐड को लेकर ट्रोल हुए ऋतिक रौशन और कटरीना कैफ तो अब कंपनी ने पेश की सफाई

बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रौशन और एक्ट्रेस कटरीना कैफ इन दिनों पर अपने एक नए ऐड को लेकर काफी सुर्खियों में हैं। दरअसल दोनो एक्टर ज़ोमैटो के ऐड में नजर आए थे। जिसके बाद इस बात को लेकर के कंपनी की तरफ से एक बयान सामने आया है।

Zomato ऐड को लेकर ट्रोल हुए ऋतिक रौशन और कटरीना कैफ तो अब कंपनी ने पेश की सफाई
X

बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रौशन (Hrithik Roshan) और एक्ट्रेस कटरीना कैफ (Katrina Kaif) इन दिनों पर अपने एक नए ऐड को लेकर काफी सुर्खियों में हैं। दरअसल दोनो एक्टर ज़ोमैटो (Zomato) के ऐड में नजर आए थे। इस ऐड में इन दोनों की तारीफ तो हुई लेकिन उससे ज्यादा लोगों ने एक्टर्स को ट्रोल भी खूब किया। इस ऐड को "ऋतिक रोशन हो या आप, अपने लिए हर ग्राहक है स्टार," टैग लाइन के साथ बनाया गया था। जिसके बाद हर जगह ज़ोमैटो के बारें में बात होने लगी। इस ऐड को करने के लिए ऋतिक और कटरीना को भी ट्रोल किया गया। जिसके बाद इस बात को लेकर के कंपनी की तरफ से एक बयान सामने आया है।

ज़ोमैटो का कहना है कि हर कहानी के दो पहलू होते हैं। अब हम आपको अपना पहलू बताएंगे। उनका कहना था कि इस ऐड के जरिए हम अपने डिलीवरी पार्टनर्स की अहमियत को बता रहे थे। वे इस ऐड के जरिए ये बताना चाहते थे कि सर्दी, गर्मी हो या बरसात उनके डिलिवरी एग्जिक्यूटिव बिना रुके काम करते हैं। उनके डिलिवरी एग्जिक्यूटिव को एक से दूसरा ऑर्डर पहुंचानें के बीच 1 मिनट का भी समय नहीं बचता है। वे इस ऐड के जरिए ये बताना चाहते हैं कि ज़ोमैटो के लिए उनके ग्राहक ही सबसे बड़ा स्टार है। साथ ही वह इन ऐड के ज़रिए वह अपने डिलीवरी पार्टनर की गरिमा के स्तर को बढ़ाना चाहते हैं। इसके अलावा सोशल मीडिया पर मिल रहे क्रिटीसिज़्म का जवाब देते हुए ज़ोमैटो ने यह भी कहा कि इन ऐड का कॉन्सेप्ट 6 महीनें पहले ही तय कर लिया गया था।


ज़ोमैटो ने अपने डिलीवरी पार्टनर को लेकर के कहा कि वह गिग वर्कर्स और उनके काम करने की अनुचित परिस्थितियों के बारे में सोशल मीडिया की चर्चा को नोटिस कर रही है। जोमैटो ने कहा, 'हम समझते हैं कि आप हमसे ज्यादा और बेहतर की उम्मीद करते हैं। हमारे डिलीवरी पार्टनर नेट प्रमोटर स्कोर -10% से बढ़कर 28% हो गए हैं (और लगातार बढ़ रहे हैं)। हम बहुत जल्द, एक ब्लॉग पोस्ट भी पब्लिश करेंगे, जिसमें बताया जाएगा कि हमें क्यों लगता है कि हमारे डिलीवरी पार्टनर्स को जितना काम/समय वे डालते हैं उसके लिए काफी मुआवजा दिया जाता है।" आपको बता दें कि पिछले काफी दिनों से सोशल मीडिया पर ज़ोमैटो डिलीवरी पार्टनर के काम और उन्हें मिलने वालें मेहनतानें पर बहस छिड़ी हुई है। लोगों का कहना है कि ज़ोमैटो उनके ऐड पर तो काफी रुपये खर्च करता है लेकिन वह अपने डिलिवरी एग्जिक्यूटिव को ज़रूरत से कम मेहनताना देता है।

Next Story