Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुण्य तिथि: मोहम्मद रफी की पहली कमाई थी 50 रुपए, जानिए कैसा रहा इनका सफर

जब मुंबई शहर में हजारों लोगों के हुजूम के बीच मोहम्मद रफी का जनाजा जा रहा था, तो आसमान भी रो रहा था, बारिश हो रही थी। हर आंख नम थी, सब एक-दूसरे को देखकर चुप थे।

समझ में नहीं आ रहा था कि किससे क्या कहें? क्योंकि सबके प्यारे सुर सम्राट ने तो अलविदा कह दिया था। इस बारिश में मशहूर अभिनेता मनोज कुमार बोले, ‘ओह, आज सुरों की मां सरस्वती भी अपने आंसू बहा रही हैं।’

Next Story
Top