Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान के लिए काम करेंगी रेणुका पवार, बागपत डीएम से की मुलाकात

Renuka Panwar: रेणुका पवार ने बागपत के डीएम राज कमल यादव से मुलाकात की और 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' की जानकारी जुटाई। साथ ही इस अभियान से जुड़ने की इच्छा भी जाहिर की।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए काम करेंगी रेणुका पवार, बागपत डीएम से की मुलाकात
X

हरियाणवी इंडस्ट्री की सुपरस्टार रेणुका पवार लाखों दिलों पर राज करती है। रेणुका पवार के गाने तो लोगों को पसंद आते ही है, लेकिन उनके सामाजिक कार्य भी उन्हें लोगों के बीच मशहूर बनाते है। रेणुका पवार अब 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान के लिए काम करना चाहती है। इसके लिए उन्होंने बागपत के डीएम राज कमल यादव से मुलाकात की और जानकारी जुटाई। साथ ही इस अभियान से जुड़ने की इच्छा भी जाहिर की।

रेणुका पवार और डीएम राज कमल यादव के इस मुलाकात में अपर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह, जिल सूचना अधिकारी राहुल भाटी भी मौजूद थे। रेणुका पवार का 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' के लिए काम करने का इरादा इंडस्ट्री में आने से पहले का था, क्योंकि वो अच्छे से समझती है कि एक लड़की के लिए छोटे से कस्बे से निकलकर अपनी अलग पहचान बनाना कितना मुश्किल है। इसका जीता-जागता उदाहरण वो खुद है। रेणुका पवार का जन्म 29 अप्रैल 2002 को यूपी के बागपत खेकड़ा में हुआ था।

रेणुका मिडिल क्लास फैमिली से थी। रेणुका पवार बचपन से ही एक सिंगर बनना चाहती थी, लेकिन उनके माता-पिता इस सपने के खिलाफ थे। रेणुका स्कूल में डांस और सिंगिंग कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेती थी। उन्होंने स्टार प्लस के डांसिंग शो 'इंडियाज बेस्ट डांसिंग स्टार' के लिए ऑडिशन भी दिया था, जिसमें उनका सलेक्शन हो गया, लेकिन इसके लिए उनके मम्मी पापा ने मंजूरी नहीं दी। रेणुका पवार ने बतौर सिंगर अपनी करियर की शुरुआत साल 2019 में रिलीज हुए हिंदी गाने 'सुन सोनियो' से की।

रेणुका ने अपना ये पहला गाना प्रदीप सोनू के साथ रिकॉर्ड किया था। ये गाना सुपरहिट रहा। रेणुका ने ये गाना तब गाया, जब वो दसवीं में थी और उनकी उम्र महज 16 साल थी। इसके बाद रेणुका के कई गाने सोशल मीडिया पर रिलीज हुए। लेकिन लोकप्रियता उन्हें '52 गज का दामन' से सबसे ज्यादा मिली। रेणुका पवार का एक यूट्यूब चैनल भी है जिसको कि उनके भाई विक्की पवार मैनेज करते है।

Next Story