Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मैं हटकर किरदार करना चाहता हूं : नील भूपलम

टीवी, वेब सीरीज, फिल्म तीनों मीडियम में नील भूपलम काम कर रहे हैं। इन दिनों वह वेब सीरीज ‘किसका होगा-थिंकिस्तान’ सीजन-2 का हिस्सा हैं। इस वेब सीरीज में अपने रोल से वह कितना रिलेट करते हैं? एंटरटेनमेंट के किस मीडियम को ज्यादा एंज्वॉय करते हैं? उनके अपकमिंग प्रोजेक्ट कौन-से हैं? एक मुलाकात में बता रहे हैं नील भूपलम।

मैं हटकर किरदार करना चाहता हूं : नील भूपलमI Want To Do Different Character: Neil Bhoopalam

नील भूपलम करियर की शुरुआत से ही चैलेंजिंग रोल्स कर रहे हैं। अनुष्का शर्मा के साथ आई उनकी फिल्म 'एनएच-10' हो या फिर 'नो वन किल्ड जेसिका' या टीवी शो '24' में भी अनिल कपूर के साथ स्क्रीन शेयर करना, उनके हर काम को बहुत सराहा गया। इन दिनों नील भूपलम एमएक्स प्लेयर की वेब सीरीज 'किसका होगा-थिंकिस्तान' सीजन-2 में नजर आ रहे हैं। इस सीरीज में उनका रोल डिफरेंट है। हाल ही में नील भूपलम से कुछ इस तरह की बातचीत हुई।

वेब सीरीज 'किसका होगा-थिंकिस्तान' सीजन-2 में आपका किरदार किन मायनो में अलग है?



मेरे किरदार का नाम विलियम फर्नांडिस है। यह एक बहुत ही कड़क बॉस है, अपनी कंपनी के प्रति डेडिकेटेड है। वह अपनी एड एजेंसी को नए मुकाम पर ले जाना चाहता है। यही उसका मकसद है। इस मकसद को पाने के लिए वो किसी भी हद तक जा सकता है। उसे अपनी जीत चाहिए और एजेंसी की तरक्की। शुरू में मेरा नाम विलियम ही सुनाई देगा लेकिन छठे एपिसोड में मेरे पूरे नाम का खुलासा होगा। यह बहुत ही अच्छा शो है। पहले सीजन में लोगों ने देखा कि लैग्वेंज एक बड़ा मुद्दा थी। दूसरे सीजन में विलियम, एड एजेंसी में एक नया सिस्टम भी लेकर आ रहा है। जहां कई तरह के बदलाव होंगे। पहला सीजन बहुत कूल था लेकिन इस सीजन में बहुत अप-डाउन हैं। कई तरह के ड्रामा सींस हैं। विलियम के आने से ऑफिस का पूरा माहौल बदल गया है।

आप विलियम के किरदार से खुद को कितना रिलेट कर पाते हैं?

मैंने मास मीडिया की पढ़ाई की है। इसके तीसरे साल में एड वर्ल्ड की पढ़ाई पर फोकस किया जाता है। उस समय मुझे एड वर्ल्ड बहुत ज्यादा अपनी तरफ खींच रहा था। मैं इसी सेक्टर में काम करना चाहता था। उस समय मैं थिएटर भी कर रहा था, आगे चलकर मैं एक्टिंग की तरफ बढ़ गया। लेकिन अगर मैं एक्टिंग की दुनिया में नहीं होता तो एड वर्ल्ड में होता। अब आप खुद समझ सकती हैं कि मुझे इस वेब सीरीज को करने में कितना मजा आया होगा और मैं इससे खुद को कितना करीब महसूस कर रहा हूं।

सुना है कि आप रेडियो से भी जुड़े रहे हैं?

हां, आपने सही सुना है। मैंने अपने करियर की शुरुआत रेडियो जॉकी के तौर पर की। मैं अपने कॉलेज की पढ़ाई भी कर रहा था और रेडियो मिर्ची में काम भी करता था। कॉलेज में क्लास खत्म होने के बाद बस पकड़ कर रेडियो स्टेशन आ जाता था। वहां मेरी छह घंटे की जॉब थी। यह जॉब मैं मुंबई में रहकर कर रहा था। फिर मैंने रेडियो की नौकरी छोड़ दी और पूरा फोकस पढ़ाई पर लगा दिया। वैसे भी मेरे लिए बहुत मुश्किल हो रहा था, पढ़ाई और छह घंटे रेडियो स्टेशन में बिताना। मैं थिएटर भी कर रहा था, उसे मैं करता रहा। थिएटर मैं अभी भी कर रहा हूं। दिल्ली आता रहता हूं, अपने प्लेज के लिए।

फिल्मों में आपका पहला प्रोजेक्ट क्या था?

पहला प्रोजेक्ट फिल्म का ही मिला था। फिल्म का नाम था- 'दिल दे के देखो'। यह शत्रुघ्न सिन्हा प्रोडक्शन की फिल्म थी। उसके बाद तो 'नो वन किल्ड जेसिका', 'एनएच-10' जैसी फिल्में करने का मौका मिला। टीवी भी किया, अनिल कपूर जी के साथ शो '24' किया था। उनके साथ काम करने का बहुत अच्छा एक्सपीरियंस रहा।

थिएटर, फिल्म या वेब सीरीज तीनों मीडियम में से सबसे ज्यादा एंज्वॉय किसे करते हैं?

मैं सबसे ज्यादा एंज्वॉय थिएटर को करता हूं। ज्यादा सहज भी थिएटर में ही महसूस करता हूं, क्योंकि मैंने सबसे ज्यादा समय थिएटर को ही दिया है।

किसी प्रोजेक्ट को चुनने से पहले आप किस बात का ध्यान रखते हैं?

मेरी यही कोशिश रहती है कि ऐसा किरदार चुनूं, जिसे देखकर लोग बोलें कि यह किरदार नील ही कर सकता है। मुझे भी लगे कि यह किरदार मेरे लिए ही बना है। साथ ही मैं हटकर किरदार निभाना चाहता हूं।

आगे किन प्रोजेक्ट्स में काम कर रहे हैं?

जल्द ही वूट पर मेरी एक वेब सीरीज आ रही है। एक वेब सीरीज अमेजॉन प्राइम के लिए भी कर रहा हूं। कुछ और प्रोजेक्ट भी हैं, जो पाइपलाइन में हैं। एक फिल्म भी है, जल्दी ही उनके बारे में भी बताऊंगा।

मुलाकात : रेणु खंतवाल


Next Story
Top