logo
Breaking

Tejaswi Prakash Interview: अपने प्यार के लिए दुनिया से लड़ने को तैयार हैं स्वरागिनी

तेजस्वी प्रकाश का जन्म जेद्दाह (सऊदी अरब) में हुआ। फैमिली में म्यूजिक का माहौल था, तेजस्वी के पिता सिंगर हैं। वह जब मुंबई में इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन में ग्रेजुएशन कर रही थीं।

Tejaswi Prakash Interview: अपने प्यार के लिए दुनिया से लड़ने को तैयार हैं स्वरागिनी

तेजस्वी प्रकाश का जन्म जेद्दाह (सऊदी अरब) में हुआ। फैमिली में म्यूजिक का माहौल था, तेजस्वी के पिता सिंगर हैं। वह जब मुंबई में इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन में ग्रेजुएशन कर रही थीं।

इसी दौरान वह एक ब्यूटी इवेंट में फ्रेश फेस का खिताब जीतने में कामयाब रहीं। इसके बाद तेजस्वी को एड फिल्म्स मिलने लगीं और फिर वह टीवी वर्ल्ड में आ गईं। उन्होंने ‘संस्कार-धरोहर अपनों की’,‘स्वरागिनी’, ‘पहरेदार पिया की’ और ‘रिश्ता लिखेंगे हम नया’ जैसे सीरियल किए।

इन दिनों वह टीवी की पॉपुलर एक्ट्रेसेस में से एक हैं। जल्द ही वह स्टार प्लस पर शुरू होने वाले सीरियल ‘कर्ण संगिनी’ में नजर आएंगी। हाल ही में इस सीरियल और करियर से जुड़ी बातचीत, तेजस्वी प्रकाश से हुई।

सीरियल ‘कर्ण संगिनी’ में महाभारत के कुछ चुनिंदा पात्रों की कहानी दिखाई जाएगी। आप सऊदी अरब में जन्मी, पली-बढ़ी हैं, क्या जानती हैं, इस महागाथा और इसके पात्रों के बारे में?

हर भारतीय को महाभारत की महागाथा के बारे में पता है। मुझे भी पूरी जानकारी है। यह कौरव-पांडवों के बीच सिर्फ युद्ध की कहानी नहीं है। इसमें इंसानी जीवन के तमाम उतार-चढ़ाव और बदलावों को भी गहराई से देखा गया है, समझा गया है। जहां तक हमारे सीरियल की बात है तो इसमें कर्ण की पत्नी उरुवी के जीवन को ज्यादा दिखाया जाएगा। कुंती, द्रौपदी के बारे में दर्शक बहुत कुछ जानते हैं, लेकिन महाभारत में उरुवी की भूमिका क्या रही, इसके बारे में कम ही लोगों को पता है। हम सीरियल में उरुवी के पूरे जीवन और कर्ण के प्रति उसके प्रेम को दिखा रहे हैं। यह सीरियल कविता काणे की लिखी किताब ‘कर्ण वाइफ-द आउटकास्ट क्वीन’ पर बेस्ड है।

आपको उरुवी की भूमिका करने का मौका कैसे मिला?

‘कर्ण संगिनी’ सीरियल को शशि-सुमित का प्रोडक्शन हाउस बना रहा है। शशि और सुमित से मेरा दिल का रिश्ता है। वे हमेशा ही मुझे स्ट्रॉन्ग कैरेक्टर्स देते हैं। जब उन्होंने मुझे उरुवी की भूमिका के बारे में बताया तो लगा कि यह लॉर्जर देन लाइफ कैरेक्टर है, इसे तो करना चाहिए। वह एक साहसी महिला थीं, जो अपने हक के लिए खड़ी होती थीं। साथ ही वह अपने पति कर्ण के साथ भी हमेशा खड़ी रहीं। कई और बातें भी हैं, जिन्हें सुनकर मुझे लगा कि यह रोल करना चैलेंजिंग होगा। इस तरह मैं ‘कर्ण संगिनी’ की उरुवी बन गई।

उरुवी को आप साहसी बता रही हैं, असल जीवन में खुद को कितना उरुवी जैसा पाती हैं?

उरुवी का जीवन और मेरा जीवन बहुत अलग है। हां, एक बात में मैं उनसे रिलेट कर पाती हूं, जैसे उन्होंने हमेशा अपने प्रेम यानी कर्ण का साथ दिया, वैसे ही मैं भी अपने प्यार का साथ पूरे दिल से दूंगी। मैं भी उरुवी की तरह अपने प्यार को पाने के लिए पूरी दुनिया के खिलाफ जा सकती हूं। लेकिन जिस तरह का ग्रेस उरुवी में है, वैसा मुझमें नहीं है।

आप पॉजिटिव कैरेक्टर्स सीरियल में ज्यादा कर रही हैं, जबकि दर्शकों को आपके करियर के दूसरे सीरियल ‘स्वरागिनी’ में आपका पॉजिटिव से नेगेटिव हुआ कैरेक्टर ज्यादा अच्छा लगा था, आप पर्सनली किस तरह के रोल करना पसंद करती हैं?

मैं एक्टिंग में नई हूं, जैसे-जैसे करियर आगे जाएगा, अच्छे से अच्छे किरदार ही करना चाहूंगी। जहां तक सीरियल ‘स्वरागिनी’ की बात है तो उसमें मेरा किरदार पहले नेगेटिव नहीं था, बाद में किया गया। लेकिन मेरा कैरेक्टर सिर्फ तीन महीने तक ही नेगेटिव था, इसके बाद दोबारा पॉजिटिव हो गया। लेकिन जब तक कैरेक्टर नेगेटिव था, सीरियल की टीआरपी बहुत ज्यादा रही यानी लोगों को मेरा काम पसंद आया। पर्सनली भी मुझे नेगेटिव रोल करना चैलेंजिंग लगता है। मेरे लिए इन्हें करना काफी मुश्किल भरा काम लगता है। लेकिन इस बात की थैंकफुल हूं कि मुझे ज्यादा पॉजिटिव कैरेक्टर ही मिल रहे हैं।

अपने अब तक के सफर को कैसे देखती हैं?

मेरा अब तक का सफर बहुत ही प्यारा रहा है। स्ट्रगल फेस नहीं करना पड़ा। मैं जब इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन में ग्रेजुएशन कर रही थी तभी एक ब्यूटी कॉम्पिटिशन में फ्रेश फेस चुनी गई। फिर मुझे एड फिल्म्स मिलने लगीं। इसके बाद टीवी सीरियल मिले। इस दौरान कुछ रिलेटिव्स ने कहा कि जब एक्टिंग ही करनी थी तो इंजीनियरिंग की पढ़ाई क्यों कर रही हो। तब मेरे पैरेंट्स ने पूरा साथ दिया, उन्होंने मुझ पर भरोसा किया। मैंने अपनी पढ़ाई और एक्टिंग दोनों ही साथ-साथ की। इस तरह दोनों ही फील्ड में खुद को प्रूव किया।

टीवी वर्ल्ड की कई एक्ट्रेस बॉलीवुड फिल्में कर रही हैं, आपका इरादा कब है फिल्मों में जाने का?

अभी तक बॉलीवुड से ऐसा कोई ऑफर नहीं आया है, जो मुझे पसंद आए। जब मुझे अच्छी कहानी और किरदार मिलेगा तो जरूर फिल्मों में भी एक्टिंग करती नजर आऊंगी। वैसे मैं एक मराठी फिल्म कर रही हूं। इसकी अनाउंसमेंट बहुत जल्दी होगी।

Share it
Top