logo
Breaking

सुनिधि चौहान ने बताई बॉलीवुड की सच्चाई, कलाकारों और गायकों के सिलेक्शन पर कही ये बड़ी बात

सुनिधि चौहान ने चार साल की उम्र में अपना पहला सिंगिंग परफॉर्मेंस दिया था। फिर 13 साल की उम्र में बॉलीवुड में फिल्म ‘शस्त्र’ से प्लेबैक सिंगर के तौर पर करियर शुरू किया। आज वह सिंगिंग वर्ल्ड में एक अलग पहचान रखती हैं।

सुनिधि चौहान ने बताई बॉलीवुड की सच्चाई, कलाकारों और गायकों के सिलेक्शन पर कही ये बड़ी बात

सुनिधि चौहान ने चार साल की उम्र में अपना पहला सिंगिंग परफॉर्मेंस दिया था। फिर 13 साल की उम्र में बॉलीवुड में फिल्म ‘शस्त्र’ से प्लेबैक सिंगर के तौर पर करियर शुरू किया। आज वह सिंगिंग वर्ल्ड में एक अलग पहचान रखती हैं।

फिल्मों में गाने के साथ-साथ सुनिधि चौहान सिंगिंग रियालिटी शोज को जज भी करती हैं। जल्द ही वह स्टार प्लस के सिंगिंग रियालिटी शो ‘दिल है हिंदुस्तानी-2’ को जज करेंगी। इसके पहले सीजन में भी सुनिधि जज थीं। एक बार फिर इस शो से जुड़कर वह खुश हैं। बातचीत सुनिधि चौहान से।

इसे भी पढ़ेः 'रैप' को लेकर बादशाह का बड़ा बयान, कहा- गलतफहमी को दूर करना होगा

रियालिटी शो ‘दिल है हिंदुस्तानी’ के दूसरे सीजन को भी आप जज करेंगी, इस बार इस शो में क्या नया है?

रियालिटी शो ‘दिल है हिंदुस्तानी-2’ का पहला सीजन मैंने किया था। इसमें देश ही नहीं विदेशी सिंगर्स भी भाग ले सकते हैं, यह कॉन्सेप्ट मुझे बहुत पसंद आया। अच्छा लगता था, दुनिया भर से आए लोगों को एक मंच पर देखकर।

जब मेरे पास दोबारा इसका ऑफर आया तो मैंने मना नहीं किया। इस बार भी कॉन्सेप्ट वही है, दुनिया के किसी भी कोने से आया सिंगर इस शो में भाग ले सकता है। उसकी आवाज में मिठास हो, हमारे देश से, हमारे संगीत से लगाव हो। इस शो में मैं, संगीतकार प्रीतम और रैपर बादशाह कंटेस्टेंट्स को जज करेंगे।

शो में आए विदेशी कंटेस्टेंट्स में आपको क्या खास बात नजर आती है?

शो ‘दिल है हिंदुस्तानी’ के अभी कुछ एपिसोड्स शूट हुए हैं। रूस, कनाडा, न्यूजीलैंड से आए कंटेस्टेंट्स की तादाद ज्यादा है। सभी कंटेस्टेंट्स बहुत टैलेंटेड हैं। विदेशी धरती पर रहकर भारतीय फिल्मी गीतों, गैर फिल्मी गीतों की सही नॉलेज रखना आसान नहीं है। लेकिन जो कंटेस्टेंट्स आए हैं, वे बेहतरीन हैं।

इसे भी पढ़ेः Photos: गोवा में छुट्टियां मना रहीं हिना खान ने शेयर की बोल्ड तस्वीरें, लोगों ने किया ट्रोल

आपका जजिंग क्राइटेरिया क्या होगा?

जो ओवरऑल टैलेंटेड होगा, उनका सेलेक्शन होगा। कुछ कंटेस्टेंट्स के साथ हम जजेज इमोशनली कनेक्ट हो जाते हैं, इसके बावजूद जो बेस्ट होता है, उसको ही आगे लेकर जाते हैं। जहां तक मेरा सवाल है, मैं हर कंटेस्टेंट्स से प्यार से पेश आती हूं। अगर किसी को ना भी कहना होता है, तो बड़े ही विनम्र तरीके से कहती हूं।

रियालिटी शो जज करने की वजह से क्या आपके प्लेबैक सिंगिंग करियर पर असर नहीं पड़ता है?

नहीं ऐसा है। सिंगर के तौर पर मुझे जितना काम मिल रहा है, मैं कर ही रही हूं। अब किसी एक फिल्म में सारे गाने एक ही सिंगर से गवाने का ट्रेंड नहीं रहा। ऐसी भी फिल्में बन रही हैं, जिनमें दो-तीन गाने ही होते हैं।

फिल्म में जो कलाकार होते हैं, उनसे मैच करती हुई आवाज सेलेक्ट होती है। लेकिन यह कहना कि रियालिटी शो की वजह से सिंगिंग करियर बैक सीट पर चला जाता है, गलत होगा। रियालिटी शो में तो एक दिन में ही तीन-चार एपिसोड्स की शूटिंग की जाती है। इस तरह सबकुछ मैनेज हो जाता है।

कंपोजर अमित त्रिवेदी ने एक स्टेटमेंट दिया है कि रिमिक्स कभी रेस्पेक्टेड नहीं हो सकते हैं, आपका क्या कहना है इस बारे में?

अमित त्रिवेदी म्यूजिक कंपोजर हैं, उन्होंने वही कहा जो एक संगीतकार को सही लग सकता है। मेरा मानना है रिमिक्स सॉन्ग तब अच्छे कहलाए जा सकते हैं जब खूबसूरती से बनाए जाएंगे। वैसे इंडियन म्यूजिक में बहुत वैरायटी है, ऐसे में रिमिक्स करने की जरूरत ही नहीं पड़नी चाहिए।

आज आप गाने चुनते वक्त किन बातों का ध्यान रखती हैं?

मैं करियर के शुरुआती दौर में इन बातों पर गौर नहीं करती थी, क्योंकि तब उतनी समझ नहीं थी। लेकिन अब मैं सॉन्ग के लिरिक्स पर बहुत ध्यान देती हूं। कोशिश यही रहती है कि अच्छे बोल वाले गाने ही गाऊं।

आपके पति हितेश सोनिक भी म्यूजिक कंपोजर हैं, आप उनके संगीत निर्देशन में कब गा रही हैं?

ऐसा गाना हो तो सही, जो मुझे सूट करे। वैसे मुझे भी इंतजार है उस पल का जब मैं उनके संगीत निर्देशन में गा पाऊंगी। हो सकता है, कुछ सालों बाद हमारा बेटा भी गाने लग जाए।

सुनिधि ने मां बनने के बाद बहुत जल्द अपना करियर शुरू कर लिया, इसकी क्या वजह रही? पूछने पर वह बताती हैं, ‘देखिए, हम चाहें तो कुछ भी मुश्किल नहीं है। फिर मेरे पास मदद करने वाला स्टाफ है।

मैं अपने बेटे तेघ (सुनिधि ने मतलब बताया-वॉरियर) को दिन के 24 घंटे और 365 दिन अपने साथ रखती हूं। मैं जहां भी रिकॉर्डिंग करने जा रही हूं, तेघ को लेकर जा रही हूं। बस मैंने अपने फिल्ममेकर्स से गुजारिश की वह चुनिंदा स्टूडियो में मेरे सॉन्ग की रिकॉर्डिंग करें।

जहां बच्चों के लिए एंवॉयर्नमेंट ठीक हो। जब मैं दूसरे रूम में गाती हूं, मेरा बेटा तेघ या तो सोता है या मेरे असिस्टेंट के साथ खेलता है। अब आपके साथ बातचीत कर रही हूं और ऊपर वाले कमरे में मेरा बेटा सो रहा है। उसे मैं फीड कराकर आई हूं। इस तरह से मैं बेटे की परवरिश और सिंगिंग दोनों को संभाल रही हूं।’

Share it
Top