logo
Breaking

हर कोई सिंगर नहीं बन सकता : सुनिधि चौहान

सुनिधि चौहान उन टैलेंटेड/लकी सिंगर्स में से एक हैं, जिनके हर गाने का इंतजार लोग करते हैं।

हर कोई सिंगर नहीं बन सकता : सुनिधि चौहान
मुंबई. आजकल बॉलीवुड में सिंगर्स तो बहुत हैं, लेकिन ऐसे बहुत कम हैं जिनके गानों का इंतजार श्रोताओं को रहता है। सुनिधि चौहान उन टैलेंटेड/लकी सिंगर्स में से एक हैं, जिनके हर गाने का इंतजार लोग करते हैं।
इन दिनों ‘तनु वेड्स मनु रिटर्न्स’ में गाया उनका गीत ‘मूव आन...’ यंगस्टर्स की जुबान पर है। इसके अलावा वह एंड टीवी के अपकमिंग रियालिटी शो ‘द वॉयस इंडिया’ में नए सिंगिंग टैलेंट को जज करते हुए भी जल्द ही दिखेंगी। अपने अब तक के म्यूजिकल जर्नी और सिंगिंग से अपने जुड़ाव के बारे में बता रही हैं सुनिधि चौहान।
अपने सभी गाने लगते हैं प्यारे
मुझे अपने गाए सभी गानों से प्यार है, उनमें से किसी एक मोस्ट फेवरेट को सेलेक्ट करना बहुत मुश्किल है। इतने गाने गा लेने के बावजूद मुझे अभी भी सैटिस्फैक्शन नहीं मिला। इसीलिए और भी बेहतर, और भी अच्छा गाने का प्रयास करती रहती हूं और आगे भी करती रहूंगी। क्योंकि अगर सैटिस्फैक्शन मिल जाता तो गाना बंद करके घर में बैठ जाती।
डिवोशन है सबसे जरूरी
मैं मानती हूं कि सिंगिंग टैलेंट गॉड गिफ्टेड होता है। जो सच में गा सकता है, वही सिंगर बन सकता है। हर कोई सिंगर नहीं बन सकता। मैं भी रियालिटी शो से ही आई थी, लेकिन आज जिस मुकाम पर हूं, वहां पहुंचने के लिए मेरी डिवोशन और हार्ड वर्क का सबसे इंपॉर्टेंट रोल है।

कॉम्पिटिशन तो हमेशा से रहा है, लेकिन मुकाम वही बना पाता है, जिसमें टैलेंट के साथ पूरा डिवोशन भी हो। वैसे मैं कॉम्पिटिशन को गलत नहीं मानती, क्योंकि ये आपको बैटर परफॉर्मेंस के लिए पुश करता है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, लाइफ में और क्या करना चाहती हैं सुनिधि -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top