Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये थी श्रीदेवी की आखरी ख्वाहिश, जो नहीं हो सकी पूरी

फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी के निधन के बाद उनके घर के बाहर गम के माहौल में शोकाकुल प्रशंसकों की भीड़ अपनी ‘चांदनी'' की एक झलक पाने के लिए एकत्र हैं।

ये थी श्रीदेवी की आखरी ख्वाहिश, जो नहीं हो सकी पूरी
X

फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी के निधन के बाद उनके घर के बाहर गम के माहौल में शोकाकुल प्रशंसकों की भीड़ अपनी ‘चांदनी' की एक झलक पाने के लिए एकत्र हैं। श्रीदेवी का शव दुबई से भारत लाने के लिए अनिल अंबानी का प्राइवेट जेट भेजा गया है। उनके लोखंडवाला स्थित घर के बाहर प्रशंसकों की भीड़ जुटना शुरू हो गई।

इससे पहले संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय दूत नवदीप सिंह पुरी ने कहा दुबई में हमारा वाणिज्य दूतावास स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर हर संभव मदद मुहैया कराने के लिये काम कर रहा है। उन्होंने शोक व्यक्त किया है। अपने उन्होंने ट्वीट किया कि श्रीदेवी के असामयिक निधन की खबर से स्तब्ध हूं।

श्रीदेवी की आखरी ख्वाहिश

श्रीदेवी की बड़ी बेटी जाह्न्वी कपूर इस साल धड़क मूवी के जरिए बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रहीं थी। जाह्न्वी के लिए इससे बड़ा दुख क्या हो सकता है कि उनके करि‍यर की फिल्म के रिलीज से पहले ही उनकी मां का देहान्त हो गया। श्रीदेवी की आखरी ख्वाहिश थी की वह अपनी बेटी को बॉलीवुड में लॉन्च होते देखे, लेकिन ये बहुत दुखद है की उनकी ये अंतिम इच्छा पूरी न हो सकी।

50 साल का फिल्मी कॅरियर

श्रीदेवी छह साल बाद 1975 में वे बतौर कलाकार पहली बार बॉलीवुड फिल्म ‘जूली' में दिखीं। ये सिलसिला जारी रहा, आहिस्ता-आहिस्ता वे बड़े पर्दे से उतरकर फैंस के दिलों में बस गईं। फिल्म इंडस्ट्री में जहां ये कहा जाता है कि अभिनेत्रियों का करियर ज्यादा लंबा नहीं होता है, वहां श्रीदेवी ने सिनेमा के लिए 50 साल काम किया।

कई फिल्में डबिंग नहीं की

कहा जाता है कि करियर की शुरुआत में कई फिल्मों में श्रीदेवी ने अपनी फिल्मों की खुद डबिंग नहीं की थी। मिस्टर इंडिया (1987) शायद भारत की पहली साइंस फिक्शन सुपरहीरो फिल्म थी। सलीम-जावेद की पटकथा को शेखर कपूर ने डायरेक्ट किया था।

पूरा देश सकते में

श्रीदेवी की अचानक मौत से बॉलीवुड की दुनिया में मातम पसरा हुआ है। श्रीदेवी की मौत ने ना सिर्फ उनके फैन्स बल्कि पूरा देश सकते में है। फिल्मों में हर तरह के किरदार में जान फूंक देने वाली ये अदाकारा पर्सनल लाइफ में सबको अपने प्यार से बांधकर रखने वाली इंसान थीं।

चार साल की उम्र में बन गई थीं भगवान

बॉलीवुड की हवा-हवाई गर्ल कहलाने वाली श्रीदेवी महज चार साल की उम्र में बड़े पर्दे पर आ गई थीं। श्रीदेवी का वास्तविक नाम श्री अम्मा यंगर अयप्पन था। पर्दे पर उनके लिए श्रीदेवी नाम तय किया गया। भारतीय सिनेमा ने शनिवार रात बॉलीवुड का एक चमकता सितारा हमेशा के लिए खो दिया। अपनी खूबसूरती और शानदार अदाकारी से सिल्वर स्क्रीन पर चांदनी बिखेरनी वाली श्रीदेवीअब हमारे बीच नहीं रहीं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story