Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Interview: मुझे हर तरह के किरदार निभाने हैं : श्रेया धनवंतरी

इमरान हाशमी के अपोजिट फिल्म ‘चीट इंडिया’ में नई एक्ट्रेस श्रेया धनवंतरी भी नजर आएंगी। उन्हें यह फिल्म कैसे मिली? क्या है फिल्म ‘चीट इंडिया’ में उनका रोल? इमरान हाशमी के साथ उनके वर्किंग एक्सपीरियंस कैसे रहे? आगे वह किस तरह की फिल्में करना चाहती हैं? बातचीत श्रेया धववंतरी से।

Interview: मुझे हर तरह के किरदार निभाने हैं : श्रेया धनवंतरी
श्रेया धववंतरी ने ब्यूटी कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेने के साथ ही एक्टिंग वर्ल्ड में आने का सपना देखा था। लेकिन वह पढ़ाई पर भी पूरा फोकस करती रहीं, उन्होंने बीटेक कंप्लीट किया और उसके बाद फिल्मों में किस्मत आजमाई। अब वह फिल्म चीट इंडिया में नजर आएंगी। श्रेया ने 2010 में तेलुगू फिल्म ‘स्नेह गीतम’ में अभिनय किया था। 2016 में वह मुंबई गईं। इसके बाद श्रेया धनवंतरी ने ‘लेडीज रूम’,‘द रियूनियन’ और ‘द फैमिली मैन’वेब सीरीज में अभिनय किया। अब फिल्म ‘चीट इंडिया’ में वह इमरान हाशमी की हीरोइन बनकर आ रही हैं। श्रेया धनवंतरी से फिल्म ‘चीट इंडिया’ और करियर से जुड़ी बातचीत।

ब्यूटी कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेने के बाद 2010 में आपने एक तेलुगू फिल्म ‘स्नेह गीतम’ की। उसके बाद अब आप हिंदी फिल्म में नजर आई हैं, इसकी क्या वजह रही?

जब मैंने ब्यूटी कॉम्पिटिशन जीते थे, उस वक्त मैं दिल्ली में रहती थी। दिल्ली में फिल्मों में एक्टिंग करने के मौके नहीं हैं। अगर वास्तव में आपको फिल्मों में अभिनय करना है तो मुंबई आना ही पड़ेगा।
अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद मैंने मुंबई आने का डिसीजन लिया। मुंबई में मेरी शुरुआत एड फिल्मों से हुई। उसके बाद यशराज फिल्म्स ने मुझे वेब सीरीज ‘लेडीज रूम’ करने का मौका दिया।
इसके बाद मैंने दूसरी वेब सीरीज ‘द रियूनियन’ और फिर ‘द फैमिली मैन’ की। अब फिल्म ‘चीट इंडिया’ में नजर आऊंगी। मुंबई आने के बाद से मैंने लगातार फिल्मों के लिए ऑडिशन दिया लेकिन अब सफलता मिली है। इससे मैं बहुत खुश हूं।

क्या आपने फिल्म ‘चीट इंडिया’ बिना कुछ सोचे-समझे ही कर ली?

आपने एकदम सही समझा। जब इस फिल्म से जुड़ने का ऑफर मिला तो मैंने आगे-पीछे कुछ नहीं सोचा। वैसे भी नॉन फिल्मी बैकग्राउंड से आने वाली लड़कियों को फिल्मों में जल्दी मौके कहां मिलते हैं? ‘चीट इंडिया’ से जुड़ने का मौका मिलना मेरे लिए बहुत बड़ी बात थी।

फिल्म के अपने किरदार को लेकर क्या कहेंगी?

फिल्म ‘चीट इंडिया’ में मैंने लखनऊ में रहने वाली लोअर मिडल क्लास फैमिली की लड़की नूपुर का किरदार निभाया है। नूपुर साधारण-सी लड़की है। वह आर्ट्स कॉलेज में पढ़ती है। इससे ज्यादा बताना मेरे लिए फिलहाल संभव नहीं है। फिल्म में मेरी मुलाकातें इमरान हाशमी से होती हैं, एक रिश्ता बनता है, यह रिश्ता उसके चीटिंग के बिजनेस से परे है।

फिल्म के सब्जेक्ट पर आपका क्या कहना है?

हमारी फिल्म ‘चीट इंडिया’ एजुकेशन सिस्टम में मौजूद भ्रष्टाचार पर बात करती है। इस फिल्म में जितनी घटनाएं हैं, जो कुछ दिखाया गया हैं, सब कुछ सच है। हम सब ने कई बार अखबारों में पढ़ा है कि मेडिकल हो या इंजीनियरिंग की परीक्षा हो, नाम किसी का था और परीक्षा देने कोई और गया था। तो इस तरह के घोटाले हमारे देश में बहुत हुए हैं और आए दिन होते रहते हैं। यहां फर्जी यूनिवर्सिटी खुल जाती हैं, जो कि लाखों विद्यार्थियों को लूट कर गायब हो जाती हैं, फर्जी डिग्रियां बिकती हैं। एजुकेशन सिस्टम में बहुत कमियां हैं। इसकी असल वजह यह है कि सरकार एजुकेशन के लिए सबसे कम बजट देती है। एजुकेशन के लिए कम से कम 6 प्रतिशत बजट रखा जाना चाहिए, जबकि इस साल 3-4 प्रतिशत का ही बजट है।

आपको लगता है कि फिल्म ‘चीट इंडिया’ के बाद सिस्टम में, लोगों में कोई बदलाव आ जाएगा?

जहां तक मेरी समझ है, सिनेमा क्रांति नहीं लाता। लेकिन सिनेमा लोगों के बीच जागरुकता लाकर आपस में चर्चा करने के लिए मोटिवेट करता है। मुझे पूरी उम्मीद है कि फिल्म ‘चीट इंडिया’ देखने के बाद लोग इस सब्जेक्ट पर, इस फिल्म में दिखाए गए घटनाक्रम या मुद्दों को लेकर जरूर चर्चा करेंगे।

फिल्म ‘चीट इंडिया’ से आपको क्या उम्मीदें हैं?

सबसे पहले तो मैं इस बात को लेकर खुश हूं कि मुझे करियर की शुरुआत में एक ऐसे सब्जेक्ट वाली फिल्म में काम करने का मौका मिला, जिसके बारे में हर किसी को पता होना चाहिए। मुझे इस फिल्म से यह उम्मीद है कि इसके बाद मुझे दूसरी फिल्में मिलेंगी। कुछ ऑफर मिले हैं, लेकिन मैं इस फिल्म की रिलीज का इंतजार कर रही हूं।

इमरान हाशमी के साथ काम करने के एक्सपीरियंस कैसे रहे?

बहुत मजा आया। इमरान हाशमी बेहतरीन एक्टर हैं। वह इस फिल्म के प्रोड्यूसर भी हैं, इसलिए वह हम कलाकारों का कुछ ज्यादा ही ध्यान रखते थे। वह बहुत शांत स्वभाव के हैं। हमेशा ठंडे दिमाग से ही डिसीजन लेते हैं। मैंने उन्हें कभी गुस्सा होते नहीं देखा।
Next Story
Top