Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Shilpa Shetty Interview : इस आधार पर बच्चों को करती हूं जज

शिल्पा शेट्टी लंबे समय से फिल्मों से दूर हैं, लेकिन लाइमलाइट में बनी रहती हैं। वह टीवी पर लगातार एक्टिव हैं। डांस रियालिटी शो ‘सुपर डांसर्स’ से भी जुड़ी हुई हैं, इस बार इसका तीसरा सीजन जज कर रही हैं।

Shilpa Shetty Interview : इस आधार पर बच्चों को करती हूं जज

हाल ही में शिल्पा शेट्टी (shipa shetty) के बॉलीवुड करियर को पचीस साल पूरे हुए हैं। फिल्मों में एक्टिंग के साथ-साथ उन्हें डांसिंग से भी गहरा लगाव है। यही वजह है कि वह टीवी पर भी डांस शोज (dance shows) को जज करती हैं। इन दिनों शिल्पा (shipa shetty) सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन (sony entertainment television) के डांस शो ‘सुपर डांसर्स’ के सीजन-3 (super dancers season 3) को जज (judge) कर रही हैं। उनके अलावा शो में कोरियोग्राफर गीता कपूर (choreographer geeta kapoor) और फिल्म डायरेक्टर अनुराग बासु (film director anurag basu) भी जज हैं। ‘सुपर डांसर्स-3’ (super dancers 3) से जुड़ी बातचीत शिल्पा शेट्टी (shipa shetty) से।

‘सुपर डांसर्स’ को आप तीसरी बार जज कर रही हैं। इस डांस शो से लंबे समय तक जुड़ने की क्या वजह है?

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन (sony entertainment television) ने हर बार की तरह इस बार भी मुझे डांस शो ‘सुपर डांसर्स’ को जज करने का ऑफर दिया और मेरे पास कोई ऐसी वजह नहीं थी कि मैं इस शो को करने से इंकार कर दूं। ‘सुपर डांसर्स’ में गजब का डांस करने वाले बच्चे आते हैं, इस बार के सीजन में भी कमाल का डांसिंग टैलेंट आया है। मुझे डांस से गहरा लगाव है तो मैं भी अलग-अलग तरह के डांसिंग टैलेंट के फॉर्म्स को सही तरह से जज करने की कोशिश करती हूं।

जज के तौर पर आप कितनी जिम्मेदारी महसूस करती हैं?

जज के तौर पर मैं बहुत जिम्मेदारी महसूस करती हूं। बच्चों को जज करते वक्त बहुत सेंसिटिव (sensitive) होना पड़ता है, बहुत सोच-समझकर कमेंट देना होता है, जिससे उन्हें उनकी कमी भी पता चल जाए और बुरा भी न लगे। मुझे बच्चों की आंखों में आंसू बर्दाश्त नहीं होते हैं, मैं भी उनके साथ रोने लगती हूं। इस बार भी इन्हीं बातों का ध्यान शो में रख रही हूं। साथ ही मैं अधिक से अधिक हिंदी बोलने की कोशिश कर रही हूं।

आप छोटे पर्दे पर बिजी होती जा रही हैं, क्या बड़े पर्दे के लिए नया कुछ नहीं कर रही हैं?

बॉलीवुड अब बहुत बदल गया है, अच्छी कहानियां आ रही हैं। ‘स्त्री’(stree) और ‘बधाई हो’(badhai ho) जैसी अलग कंटेंट की फिल्मों को दर्शक पसंद कर रहे हैं। अगर मेरे पास भी उम्र के हिसाब से स्ट्रॉन्ग कैरेक्टर आएंगे तो जरूर फिल्मों में काम करूंगी। अभी तो कोई ऐसा ऑफर नहीं आया है। रूटीन किस्म की फिल्म करना नहीं चाहती।

क्या फिल्में न करने का अफसोस होता है?

मेरी आखिरी फिल्म ‘लाइफ इन एक मेट्रो’(life in a metro) थी, जो दस साल पहले आई थी। इसके बाद राज से शादी हुई, बेटे का जन्म हुआ, मैं पर्सनल लाइफ में बिजी हो गई। यह मेरी जिंदगी का खूबसूरत दौर रहा। धीरे-धीरे मैंने टीवी पर डांस शो जज करना शुरू किया, दर्शकों के टच में रही। मैं फिल्मों में भी वापसी करना चाहती हूं लेकिन इसके लिए कोई भी किरदार नहीं करना चाहती हूं।

आगे की स्लाइड्स नमें जानिए शिल्पा शेट्टी ने अपनी ऐप को लेकर क्या कहा......

Next Story
Top