logo
Breaking

रेमो डिसूजा का मानना है डांसर बनने के लिए स्टाइलिस्ट होना जरूरी नहीं

रेमो बॉलीवुड के डांस आइकन बन चुके हैं

रेमो डिसूजा का मानना है डांसर बनने के लिए स्टाइलिस्ट होना जरूरी नहीं
मुंबई. इन दिनों अलग-अलग चैनल्स पर म्यूजिक बेस्ड रियालिटी शोज की बहार आई हुई है। दर्शक भी इन्हें खूब पसंद करते हैं। स्टार प्लस पर पिछले सप्ताह ही ‘नच बलिए-7’ खत्म हुआ और अब एक नया डांस रियालिटी शो ‘डांस प्लस’ शुरू हो रहा है। इसमें देश के अलग-अलग हिस्सों से आए डांसर्स अपना टैलेंट दिखाएंगे। वैसे तो इसमें धर्मेश, शक्ति मोहन और सुमित नागदेव जज और मेंटर की भूमिका निभाएंगे लेकिन इस शो के सबसे बड़े अट्रैक्शन होंगे सुपरजज रेमो डिसूजा।
कहने की जरूरत नहीं कि रेमो बॉलीवुड के डांस आइकन बन चुके हैं। कई स्टार्स को नचा चुके और ‘एबीसीडी, एबीसीडी-2’ जैसी डांस आधारित सुपरहिट फिल्में डायरेक्ट कर चुके रेमो, इस शो के जरिए ऐसे डांसिंग टैलेंट को सामने लाना चाहते हैं, जो केवल बेस्ट डांसर नहीं होगा बल्कि जिसके लिए डांस ही उसकी लाइफ होगी। और क्या होगा इस शो में स्पेशल, बता रहे हैं शो में सुपर जज की भूमिका निभाने वाले रेमो डिसूजा।
टीवी पर पहले भी कई डांस शोज टेलिकास्ट हो चुके हैं और कुछ आ भी रहे हैं। ऐसे में सबसे पहले यह सवाल उठता है कि ‘डांस प्लस’ किस तरह उनसे अलग साबित होगा? इसमें क्या होगा खास?
हमने ग्राउंड लेवल से डांसिंग टैलेंट को चुना है। वे सेलिब्रिटीज नहीं हैं लेकिन उनमें डांस को लेकर एक जुनून है। उनके डांसिंग टैलेंट में कुछ एक्सट्रा यानी प्लस नजर आएगा। इसके साथ ही इस शो में सोलो, डुएट और ग्रुप डांसर्स भी शामिल होंगे। इसमें जो डांसर्स इंप्रेस करेंगे उन्हें मैं आने वाली अपनी फिल्मों में चांस भी दूंगा।

नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरा इंटरव्यू -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top