Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''मौसम इकरार के, दो पल प्यार के'' लिए ये क्या कर गईं चक्रवर्ती की बहू मदालसा शर्मा

नाना पाटेकर स्टारर फिल्म ‘गुलाम-ए-मुस्तफा’ और ‘अग्निसाक्षी’ जैसी फिल्मों के निर्देशक पार्थो घोष अचानक बॉलीवुड से नदारद हो गए थे। जबकि इन फिल्मों के बाद भी उनकी कई फिल्में बनकर तैयार थीं।

मौसम इकरार के, दो पल प्यार के लिए ये क्या कर गईं चक्रवर्ती की बहू मदालसा शर्मा
X

नाना पाटेकर स्टारर फिल्म ‘गुलाम-ए-मुस्तफा’ और ‘अग्निसाक्षी’ जैसी फिल्मों के निर्देशक पार्थो घोष अचानक बॉलीवुड से नदारद हो गए थे। जबकि इन फिल्मों के बाद भी उनकी कई फिल्में बनकर तैयार थीं।

लेकिन प्रोड्यूसर, डिस्ट्रिब्यूटर के बीच अनबन की वजह से फिल्में कभी रिलीज नहीं हो पाईं।अब पार्थो घोष एक रोमांटिक फिल्म ‘मौसम इकरार के, दो पल प्यार के’ लेकर आए हैं। जल्द ही यह फिल्म रिलीज होगी।

फिल्म ‘मौसम इकरार के, दो पल प्यार के’ में मदालसा शर्मा, अविनाश वधावन, मुकेश जे. भारती, अरुण बक्शी अहम किरदार निभा रहे हैं।फिल्म का संगीत बप्पी लाहिरी ने कंपोज किया है।

अलग है फिल्म का कॉन्सेप्ट

‘मौसम इकरार के, दो पल प्यार के’ एक रोमांटिक फिल्म है, जिसे आप एक कंप्लीट फैमिली एंटरटेनर कह सकते हैं। आम तौर पर फिल्मों में दिखाया जाता है कि हीरो या हीरोइन इंडिया से विदेश पढ़ने जाते हैं, लेकिन इस फिल्म का कॉन्सेप्ट अलग है।

हमारी फिल्म का हीरो अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए विदेश से इंडिया आता है, वह भी यूपी में पढ़ाई करने। आमतौर पर लोग यूपी, बिहार की स्टडी को कमजोर मानते हैं।

लेकिन मैं इस फिल्म के जरिए यह बात कहना चाहता था कि हमारी पढ़ाई कहीं से भी कमतर नहीं है। फिल्म में मुकेश जे भारती ने अमर का लीड कैरेक्टर प्ले किया है और अंजलि के रोल में मदालसा शर्मा हैं।

फिल्म में इनके प्यार में कई उतार-चढ़ाव आते हैं। क्या अंजलि और अमर का प्यार मंजिल तक पहुंचता है या अधूरा रह जाता है, यह तो दर्शकों को फिल्म देखने पर ही पता चलेगा।

कहानी के हिसाब से कास्टिंग

फिल्म में हीरोइन के लिए मदालसा शर्मा मेरी पहली पसंद थीं, वह बहुत अच्छी आर्टिस्ट हैं, कमाल की एक्टिंग करती हैं। उनकी शादी मिथुन के बेटे मिमोह से हो गई है और अब वह ऊटी में रहती हैं।

इस फिल्म में मुकेश जे. भारती मदालसा के अपोजिट हैं। वह नए हैं लेकिन मेहनती बहुत हैं। डायरेक्टर को फॉलो करने वाले एक्टर हैं, इसलिए उन्होंने फिल्म में अच्छा काम किया है।

प्रोड्यूसर मंजू भारती ने भी फिल्म में अहम किरदार निभाया है। इस फिल्म में अविनाश वधावन ने मदालसा शर्मा के पिता का रोल किया है। कभी दिव्या भारती और अविनाश वधावन के अभिनय से सजी फिल्म ‘गीत’ मैंने डायरेक्ट की थी।

सोलफुल म्यूजिक

फिल्म ‘मौसम इकरार के, दो पल प्यार के’ के म्यूजिक पर हमने बहुत मेहनत की है। सभी गाने फिल्म में लव स्टोरी को आगे बढ़ाते हैं। हिंदी फिल्मों के डिस्को किंग और रोमांटिक गानों के लिए पॉपुलर संगीतकार बप्पी लाहिरी एक बार फिर इस फिल्म के साथ संगीत का एक नया अंदाज लेकर आ रहे हैं।

बप्पी लाहिरी के साथ यह मेरी चौथी फिल्म है। फिल्म ‘मौसम इकरार के, दो पल प्यार के’ में कुल पांच गाने हैं। सभी सिचुएशनल हैं। इसके गाने दीपक स्नेह ने लिखे हैं।

फिल्म में अरमान मालिक, पलक मुछाल, शान, बृजेश शांडिल्य, अमृता फडणवीस और बाबुल सुप्रियो के साथ खुद बप्पी लाहिरी ने गानों को अपनी आवाज दी है। मुझे उम्मीद है कि इसके रोमांटिक और पार्टी नंबर्स यूथ को बहुत पसंद आएंगे।

फिल्म का टाइटल ट्रैक ‘दो पल प्यार के…’ बेहद रोमांटिक सॉन्ग है और पार्टी सॉन्ग ‘दम दमा दम…’ दर्शकों को थिरकने पर मजबूर कर देगा। फिल्म में एक सैड सॉन्ग और एक सूफी कव्वाली भी है। म्यूजिक बहुत ही सोलफुल है। फिल्म की शूटिंग मुरादाबाद (यूपी) और नैनीताल में हुई है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story