Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Interview : परिणीति जीजा निक जोंस के साथ खेलेंगी पहली होली

चाहे फिल्म हिट हो या ना हो, परिणीति चोपड़ा बॉलीवुड में बनी हुई हैं। ‘नमस्ते इंग्लैंड’ की असफलता के बाद वह फिल्म ‘केसरी’ में नजर आएंगी। फिल्म में उनके साथ अक्षय कुमार हैं। इस फिल्म में परिणीति का रोल बहुत छोटा है फिर उन्होंने क्या सोचकर यह फिल्म एक्सेप्ट की? आगे वह और कौन-सी फिल्म कर रही हैं? क्या परिणीति चोपड़ा अन्य भाषाओं की भी फिल्में करना चाहेंगी?

Interview : परिणीति जीजा निक जोंस के साथ खेलेंगी पहली होली
परिणीति चोपड़ा भले की अगली पंक्ति की हीराइनों में ना हों लेकिन बॉलीवुड में उनकी एक खास जगह है, निर्माता उन पर यकीन करते हैं और उन्हें अपनी फिल्मों में साइन भी करते हैं। पिछले साल परिणीति कॉमेडी फिल्म ‘गोलमाल अगेन’ में नजर आई थी, यह ब्लॉकबस्टर फिल्म साबित हुई। इसके बाद उनकी फिल्म ‘नमस्ते इंग्लैंड’आई। लेकिन इस फिल्म में परिणीति को असफलता का मुंह देखना पड़ा। अब वह अक्षय कुमार के साथ फिल्म ‘केसरी’ में नजर आएंगी। यह फिल्म 21 मार्च को रिलीज हो रही है। इस फिल्म और करियर से जुड़ी बातचीत परिणीति चोपड़ा से।

फिल्म ‘केसरी’ में अपने किरदार के बारे में कुछ बताएं?

इस फिल्म में मैं अक्षय कुमार की पत्नी का रोल प्ले कर रही हूं। मेरे किरदार का नाम जीवनी कौर है, वो एक सरदारनी है। फिल्म में मेरा स्मॉल चैप्टर है, जो बेसिकली लव चैप्टर है। मैंने हार्डली पंद्रह दिन शूटिंग की है। दरअसल, यह फिल्म अक्षय सर की फिल्म है। मैं तो बस किसी भी तरह इस फिल्म का पार्ट बनना चाहती थी, चाहे फिर मेरा रोल पांच मिनट का हो या पचास मिनट का ताकि मैं जब पचास साल की हो जाऊं तो कह सकूं कि मैं ‘बैटल ऑफ सारागढी’ पर बनी फिल्म ‘केसरी’ का हिस्सा थी। मैंने तो अनुराग सर से यहां तक कहा था कि मुझे आप चाहो तो बैकग्राउंड का पेड़ ही बना दो लेकिन फिल्म में जरूर लो। ऐसा इसलिए क्योंकि मेरे लिए यह ‘बकेट लिस्ट’ फिल्म है।

फिल्म में अपने किरदार के लिए आपने कैसी तैयारियां कीं?

इस किरदार के लिए मैंने जो कुछ भी किया, सेट पर ही किया, पहले से कोई तैयारियां नहीं की। मुझे उस ईरा के बारे में कोई जानकारी नहीं थी, कोई आइडिया नहीं था। दरअसल, अनुराग सर ने दो-तीन साल रिसर्च किया है फिर स्क्रिप्ट लिखी, तो मुझे लगा कि उनसे बेहतर किरदार को और कौन समझ सकता है। इसलिए मैं ब्लाइंडली अनुराग सर को सुनती गई और वो जो कहते गए करती गई। वैसे मुझे यह फिल्म करने में बहुत मजा आया। एक सिंपल और शर्मीली लड़की के किरदार को मैंने बहुत एंज्वॉय किया।

असल जिंदगी में भी पंजाबन होने से किरदार निभाने में आपको कितनी हेल्प मिली?

मुझसे ज्यादा इससे सेट को फायदा मिला है। मैं, अक्षय सर और डायरेक्टर अनुराग सर हम तीनों पंजाबी हैं। सो सेट पर हम पंजाबी में ही बात करते थे। ऐसा लगता था, जैसे हम किसी पंजाबी फिल्म की शूटिंग कर रहे हैं। हमें इससे बॉन्डिंग बनाने में और कल्चर को समझने में बहुत हेल्प हुई। वैसे एक सच यह भी है कि अगर मैं असल में पंजाबी नहीं भी होती, तब भी मैं अपनी एक्टिंग से ऑडियंस को जरूर यह फील कराती कि मैं पंजाबन हूं, क्योंकि एक एक्टर का काम ही एक्टिंग करना होता है।

यह फिल्म ‘बैटल ऑफ सारागढ़ी’ पर बेस्ड है, फिल्म करने से पहले इस इंसिडेंट के बारे में कितना जानती थीं?

पंजाब का हर एक बच्चा ‘बैटल ऑफ पानीपत’, ‘बैटल ऑफ सारागढ़ी’ और ‘बैटल ऑफ कुरुक्षेत्र’ सुनकर ही बड़ा होता है। यह पंजाबी कल्चर ही है, इसलिए मुझे भी बेशक इस लड़ाई के बारे में मोटी-मोटी जानकारी पहले से थी। हां, जब मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी, तो मुझे और बातें पता चलीं। उससे ज्यादा तब पता चला, जब शूटिंग शुरू हुई। सच कहूं तो मैं यकीन भी नहीं कर पा रही थी कि सच में ऐसा हुआ था। मैं अनुराग सर से भी पूछती थी कि क्या सर यह रियल इंसिडेंट है। मुझे पूरा यकीन है फिल्म देखने के बाद दर्शकों के मन में भी यह सवाल जरूर आएगा।

फिल्म में अक्षय कुमार के साथ काम करके आपने क्या सीखा?

मुझे यह कहने में बिल्कुल भी शर्म नहीं आ रही है कि मैंने अक्षय सर से सीखा कम है और उनकी क्वालिटी चुराई ज्यादा है। उनका डिसिप्लीन, सेट पर उनकी एनर्जी, उनका टाइम मैनेजमेंट, सब कुछ। मैं उनसे बहुत ज्यादा इंस्पायर हुई हूं। वो बहुत ही हंबल और रियल पर्सन है। मैं भी उनकी तरह हंबल बनना चाहती हूं (हंसते हुए) हालांकि मैं हूं हंबल लेकिन अब उनकी तरह और भी हंबल बनना है।

हिंदी के अलावा क्या अन्य भाषाओं की फिल्में भी करना चाहती हैं?

जी हां, बिल्कुल। मैं दो सौ प्रतिशत तैयार हूं पंजाबी फिल्म करने के लिए या यह कहूं कि अच्छी स्क्रिप्ट का वेट कर रही हूं। मैं भले विदेश में पली-बढ़ी हूं,लेकिन मेरी जड़ें आज भी पंजाब में हैं। मुझे पंजाबी कल्चर बहुत पसंद है। अगर मुझे मराठी फिल्म भी मिले, तो मैं बेशक करूंगी। मेरे मुताबिक मराठी सिनेमा बहुत एडवांस और फॉरवर्ड है। एक क्वालिटी सिनेमा है, जबकि मैं मराठी बोल नहीं सकती लेकिन मुझे एक्टिंग से इतना प्यार है कि लैंग्वेज से फर्क नहीं पड़ता। मैं इतनी मेहनती हूं कि मुझे पता है मैं खुद को किसी भी तरह के रोल के लिए तैयार कर सकती हूं।

क्या आप सहमत हैं कि फिल्मों की असफलता से एक्टर के करियर पर फर्क पड़ता है?

ऐसा नहीं है। मेरे साथ ऐसा नहीं हुआ कि मेरी कोई फिल्म अच्छा ना कर पाई या असफल रही तो मुझे काम मिलना बंद हो गया है। मेरे पास चार-चार छोटे पर्दे के शोज और कई फिल्मों की स्क्रिप्ट पड़ी हैं, जो मुझे पढ़नी हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रोड्यूसर मुझ पर यकीन करते हैं कि हम इसे जो रोल देंगे या जो भी काम करवाएंगे कर लेगी, वो मेरी कैपिसिटी और हार्डवर्क को जानते हैं। फिर फर्क नहीं पड़ता कि फिल्म हिट हो या ना हो, क्योंकि वो हमारे हाथ में नहीं है। अगर जिंदगी का कोई फेज बुरा रहा हो, तो इससे पूरी जिंदगी को बुरा नहीं कहा जा सकता। मेरा मानना है कि आपको अपना काम करते रहना चाहिए।

आपकी आने वाली फिल्में कौन सी हैं?

‘केसरी’ के अलावा इस साल मेरी फिल्म ‘संदीप और पिंकी फरार’ भी आएगी, जिसमें मैं पिंकी का रोल प्ले कर रही हूं। फिल्म की शूटिंग खत्म हो गई, एडिटिंग का काम इन दिनों चल रहा है। उसके बाद मेरी फिल्म ‘जबरिया जोड़ी’ आएगी। यह फिल्म जबर्दस्ती दुल्हे की किडनैपिंग कर दूसरी लड़की से करवाई जाने वाली शादी पर बेस्ड है। इस फिल्म में मैं बबली का किरदार निभाऊंगी।

परिणीति की नजर में जीजू निक जोंस

जीजू निक जोंस के अंदर कई इंडियन क्वालिटीज हैं। मैं जब उनसे पहली बार मिली थी, तब शायद दीदी और उनका अफेयर शुरू हुए माह भर ही हुआ था, तभी मैंने प्रियंका दी से कहा था यह लड़का बहुत अलग है। मुझे उनकी सबसे अच्छी बात यह लगती है कि उनके लिए फैमिली ही सब कुछ है या यह कहूं कि फर्स्ट है। जीजू बहुत हंबल और काइंड हैं। उनसे बात करके ऐसा लगता है, जैसे उन्हें मैं बहुत पहले से जानती हूं।

होली के दिन खुद को लॉक कर लेती थी

होली को लेकर मैं एक किस्सा बताना चाहती हूं। दरअसल, हमारे घर का ग्राउंड बहुत बड़ा है, इसलिए अकसर सारे रिश्तेदार वहीं होली खेलने आते थे लेकिन मैं उस दिन खुद को कमरे में लॉक कर लेती थी। मुझे रंगों से डर लगता था और अगर कोई भाई-बहन जबर्दस्ती रंग लगाने की कोशिश करता तो उसकी मैं पिटाई कर देती थी। उन दिनों को याद कर आज भी हंसी आ जाती है। खैर, मेरे सभी फैंस को होली की ढेरों शुभकामनाएं। मेरी गुजारिश है कि आप सब इकोफ्रेंडली रंगों से खेलें और कम से कम पानी वेस्ट करें। हैप्पी होली।
Next Story
Top