Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सिंगर पापोन पर पुलिस जांच के निर्देश, रवीना बोली- गिरफ्तार करो

सिंगिंग रिएलिटी शो में नाबालिग कंटेस्टेंट को किस करने के मामले में सिंगर पापोन की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। महिला और बाल विकास मंत्रालय ने इस मामले में पुलिस जांच के निर्देश दिए हैं।

सिंगर पापोन पर पुलिस जांच के निर्देश, रवीना बोली- गिरफ्तार करो

सिंगिंग रिएलिटी शो वॉयस ऑफ इंडिया में नाबालिग कंटेस्टेंट को किस करके विवादों में फंसे सिंगर पापोन की मुश्किले कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। दरअसल महाराष्ट्र के महिला और बाल विकास मंत्रालय ने अब इस मामले में संज्ञान लिया है और पुलिस को जांच के निर्देश जारी किए हैं।

आपको बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट की वकील रूना भूइयां ने सिंगर पापोन की इस हरकत पर पॉक्सों एकट के तहत शिकायत दर्ज कराई थी। बता दें कि पापोन ने अपने फेसबुक पेज से एक लाइव वीडियो शेयर किया था जिसमें वे नाबालिक कंटेस्टेंट को किस करते दिख रहे थे।

महिला बाल विकास मंत्रालय ने दिए जांच के निर्देश-

महाराष्ट्र सरकार की महिला और बाल विकास राज्य मंत्री विद्या ठाकुर ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को इस मामले के जांच के निर्देश दिए हैं। बता दें कि पूरे मामले पर शुक्रवार को पपॉन ने अपनी सफाई दी बावजूद लोगों का गुस्सा सोशल मीडिया पर देखने को मिल रहा है। ज्यादातर लोग पपॉन की हरकत का विरोध कर रहे हैं।

रवीना टंडन ने की गिरफ्तारी की मांग-

बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन ने सिंगर पापोन के गिरफ्तारी की मांग की है। ऐक्ट्रेस रवीना टंटन ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ये हरकत घृणित और शर्मनाक है। पापोन को इस मामले में तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए। रवीना ने अपने ट्वीट में ये भी आरोप लगाया है कि बच्ची के माता पिता पर पापोन का बचाव करने के लिए प्रेशर डाला गया है।

रवीना ने अपने ट्वीट में आगे कहा कि कुछ टीवी में यह देखना शर्मनाक है कि इस हरकत का भी कुछ लोग बचाव कर रहे हैं। पापोन के साथ इसी रिएलिटी शो के जजेज में शामिल गायक शान ने पापोन का बचाव किया था। लेकिन बाद में उन्होंने अपने ट्वीट को हटा लिया।

महिला आयोग और NCPCR ने भी लिया इस मामले का संज्ञान-

महाराष्ट्र की महिला आयोग ने भी पपॉन मामले का संज्ञान लिया है। सूत्रों के मुताबिक़ आयोग की ओर से रियलिटी शो के निर्माताओं को एक नोटिस भेजी जाएगी। निर्माताओं से पूछा जाएगा कि शो में शामिल बच्चों की सुरक्षा को लेकर किस तरह की सावधानी बरती गईं।

यही नहीं सिंगर पापोन से जुड़े विवाद में सुप्रीम कोर्ट की वकील भुइयां के पत्र का NCPCR ने भी संज्ञान लिया है। NCPCR ने यह तय किया है कि पापोन और चैनल को एक नोटिस भेजकर पूरे मामले में सात दिन के अंदर जवाब मांगा जाएगा।

Next Story
Top