logo
Breaking

Interview: मैं खुद को सुपर्ब एडवाइजर मानती हूं: नीति टेलर

बीते कुछ समय से स्टार प्लस पर टेलीकास्ट हो रहे सीरियल ‘इश्कबाज’ में कुछ बदलाव हुए हैं। इस सीरियल के साथ टैग लाइन जोड़ दी गई है- प्यार की ढिंचक कहानी। हाल ही में ओबेरॉय मेंशन के हेड ऑफ स्टाफ मन्नत कौर खुराना के रोल में नीति टेलर की भी एंट्री हुई है।

Interview: मैं खुद को सुपर्ब एडवाइजर मानती हूं: नीति टेलर
बीते कुछ समय से स्टार प्लस पर टेलीकास्ट हो रहे सीरियल ‘इश्कबाज’ में कुछ बदलाव हुए हैं। इस सीरियल के साथ टैग लाइन जोड़ दी गई है- प्यार की ढिंचक कहानी। हाल ही में ओबेरॉय मेंशन के हेड ऑफ स्टाफ मन्नत कौर खुराना के रोल में नीति टेलर की भी एंट्री हुई है। इस सीरियल और इसमें उनके रोल के बारे में ‘हरिभूमि’ की नीति से मेल पर कुछ सवाल किए, पेश है इन जवाबों के प्रमुख अंश।

‘इश्कबाज’ पॉपुलर शो है। इसमें अपनी एंट्री को किस तरह देखती हैं?

शो में मैं मन्नत का कैरेक्टर निभा रही हूं। वो बहुत फन लविंग गर्ल है, खूब कॉमेडी करती है। मेरे लिए यह चैलेंजिंग होने के साथ लर्निंग एक्सपीरियंस की तरह है, क्योंकि मैंने इसके पहले इस तरह का कॉमिक कैरेक्टर नहीं निभाया था। कभी इस तरह की हैप्पी-बबली गर्ल का रोल नहीं किया था। इसीलिए मैंने इसे एक्सेप्ट किया।

शो में टैग लाइन जोड़ी गई है-प्यार की एक ढिंचक कहानी। इसे आप कैसे डिफाइन करेंगी?

मेरा मानना है कि प्यार सबकी लाइफ में अलग-अलग तरह से आता है। ‘इश्कबाज’ में जो कुछ शिवांश और मन्नत के बीच होता रहता है, प्यार में जो गड़बड़ियां होती रहती हैं, वही ढिंचक कहलाता है।

शो में मन्नत सबका खयाल रखती है, सबकी प्रॉब्लम्स सॉल्व करने को तैयार रहती है। रियल लाइफ में क्या आप भी मन्नत जैसी हैं?

मन्नत का केयरिंग नेचर और सबकी प्रॉब्लम सॉल्व करने के लिए रेडी रहने वाला नेचर मुझमें भी बहुत ज्यादा है। मैं खुद को सुपर्ब एडवाइजर मानती हूं। हमेशा सबको एडवाइज देने के लिए, सबकी प्रॉब्लम सॉल्व करने के लिए तैयार रहती हूं। मेरे फ्रेंड्स भी अकसर मुझसे सजेशन मांगते रहते हैं। मुझे ऐसा करना बहुत अच्छा लगता है।

मन्नत की सोच है कि जिसे दिल के करीब लाओ, वो दूर हो जाता है, इसलिए किसी को दिल से नहीं लगाऊंगी। इस सोच को आप कितना सही मानती हैं?

मेरी ऐसी सोच नहीं है। मुझे जो प्यारे लगते हैं, जो मुझसे जुड़े हैं मैं उन्हें अपने पास और साथ रखना चाहती हूं। जो मुझे पसंद नहीं, उससे मैं खुद दूर हो जाती हूं, क्योंकि मैं अपनी लाइफ में कोई नेगेटिविटी नहीं चाहती। मैं अपने फ्रेंड्स और चाहने वालों का हमेशा साथ चाहती हूं।

आप टीवी पर एक्टिव हैं, तेलुगू फिल्में की हैं। क्या हिंदी फिल्मों में आने की कोई प्लानिंग है?

ऑफर्स तो आते रहते हैं लेकिन मैं टीवी इंडस्ट्री में ही खुश हूं। लोगों को सुनकर शॉक लगता है लेकिन हिंदी मूवीज को लेकर मेरी कोई प्लानिंग नहीं है। मैं टीवी करियर से प्यार करती हूं, इसी में अच्छा करना चाहती हूं।
Share it
Top