Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Exclusive Interview: नाजिया हुसैन ने कृष्णा अभिषेक की हरकतों पर दिया बड़ा बयान

डायरेक्टर विनोद तिवारी की नई कॉमेडी फिल्म ‘तेरी भाभी है पगले’ जल्द ही रिलीज होने वाली है। इसमें रजनीश दुग्गल, कृष्णा अभिषेक और मुकुल देव, नाजिया हुूसैन जैसे जाने-पहचाने एक्टर हैं।

Exclusive Interview: नाजिया हुसैन ने कृष्णा अभिषेक की हरकतों पर दिया बड़ा बयान

डायरेक्टर विनोद तिवारी की नई कॉमेडी फिल्म ‘तेरी भाभी है पगले’ जल्द ही रिलीज होने वाली है। इसमें रजनीश दुग्गल, कृष्णा अभिषेक और मुकुल देव, जैसे जाने-पहचाने एक्टर हैं।

फिल्म में नाजिया हुसैन हीरोइन हैं। वह एक्टर संजय दत्त की भांजी हैं। इससे पहले हिंदी में दो फिल्में कर चुकी हैं, लेकिन उन फिल्मों को सफलता नहीं मिली। साथ ही साउथ की फिल्मों में भी नाजिया ने काम किया है। अब ‘तेरी भाभी है पगले’ से उन्हें काफी उम्मीदें हैं।

फिल्म ‘तेरी भाभी है पगले’ किस तरह की फिल्म है, इसमें आपका किरदार क्या है?

फिल्म ‘तेरी भाभी है पगले’ एक कॉमेडी फिल्म है। इसमें मेरे किरदार का नाम रागिनी है। वह एक सफल टीवी एक्ट्रेस है। रागिनी के पीछे एक फाइनेंसर (मुकुल देव) पड़ा हुआ है, वह उससे अपना पीछा छुड़ाना चाहती है।

इस बीच एक डायरेक्टर (रजनीश दुग्गल) भी उसको पसंद करता है। इसके अलावा एक एक्टर भी रागिनी के प्यार में है, इस कैरेक्टर को कॉमेडियन कृष्णा अभिषेक निभा रहे हैं। इस पूरी सिचुएशन की वजह से फिल्म में कॉमेडी होती है।

क्या आप अपने किरदार रागिनी से रिलेट करती हैं?

रागिनी टीवी एक्ट्रेस है। टीवी हो या फिल्म एक्ट्रेस दोनों का प्रोफेशन एक जैसा है। मैं भी एक एक्ट्रेस हूं, एक्टर्स की लाइफ को जानती हूं। ऐसे में अपने किरदार से रिलेट करती हूं।

इस फिल्म में को-एक्टर्स के साथ वर्किंग एक्सपीरियंस कैसे रहे?

कृष्णा अभिषेक गजब की कॉमेडी करते हैं। सेट पर उनकी वजह से माहौल बहुत अच्छा रहता था। रजनीश दुग्गल सेट पर किसी से बातचीत नहीं करते थे। अपने आप में रहते थे। मुकुल देव, और डायरेक्टर विनोद तिवारी से भी बहुत कुछ सीखने को मिला। एक्ट्रेस दीपशिखा भी बहुत अच्छी हैं, बहुत सपोर्टिंव हैं।

क्या आप हमेशा से एक्टिंग में करियर बनाना चाहती थीं या अचानक ही इस फील्ड में आने का फैसला लिया?

मैंने ग्रेजुएशन करने से पहले यह सोचा था कि रेयर स्पीसीज की स्टडी करने अफ्रीका जाऊंगी। इस तरह की पढ़ाई करने वालों को स्कॉलरशिप मिलती है। ऐसे में कभी एक्टिंग के बारे में सोचा नहीं था। मेरे नाना जी (अख्तर हुसैन) मुझे नौटंकी कहते थे, क्योंकि मैं खूब ड्रामा करती थी।

उन्होंने मेरे वालिद से कहा था कि मैं आगे चलकर एक्ट्रेस बन सकती हूं। उनकी बात सच साबित हुई। धीरे-धीरे एक्टिंग की तरफ रुझान हुआ। जब करियर तय करने की बात आई तो मैंने एक्टिंग को चुना या यूं कहें कि एक्टिंग ने मुझे चुना। यह इसलिए भी हुआ क्योंकि एक्टिंग मेरे खून में है।

आप संजय दत्त की भांजी हैं। इसके बावजूद आपको बॉलीवुड में करियर बनाने में वक्त लग गया?

मुझे इस बात की खुशी है कि नरगिस जी जैसी बेहतरीन एक्ट्रेस मेरी रिलेटिव हैं। वह मेरे नाना जी की बहन थीं। इस रिलेशन से मैं संजय दत्त की भांजी हूं। लेकिन नरगिस जी के गुजरने के बाद संजय दत्त हमसे दूर होते गए। उनकी जिंदगी में वैसे ही बहुत परेशानियां थीं, ऐसे में उनसे कैसे कहती कि मेरी सिफारिश बॉलीवुड मेकर्स से करें।

बॉलीवुड के अलावा आपने साउथ की फिल्म भी की हैं?

जी हां, कई ऑडिशन देने के बाद मुझे ‘नी जथगा नेंदुली’ (फिल्म ‘आशिकी’ का तेलुगू वर्जन) नाम की फिल्म मिली। इस फिल्म को अच्छा रेस्पॉन्स मिला। यह फिल्म 2014-15 में रिलीज हुई थी।

इसके बाद हिंदी फिल्म ‘से यस टू लव’ की। इस फिल्म ने अच्छा बिजनेस नहीं किया। फिर एक फिल्म ‘ये है मोहब्बतें’ कीं, यह फिल्म भी नहीं चली। इस वजह से मेरा बॉलीवुड करियर आगे नहीं बढ़ पाया। अब फिल्म ‘तेरी भाभी है पगले’ से उम्मीद है।

जब आपकी फिल्में लगातार फ्लॉप हुई तो निराशा हुई होगी, तब खुद को नेगेटिविटी से कैसे दूर रखा?

संघर्ष इंसान की परीक्षा है। मैंने संघर्ष से ही बहुत सीखा है। बीस बार रिजेक्ट होने पर कोई भी निराश हो सकता है। मैं भी हुई, लेकिन खुद को संभाला और फिर से आगे बढ़ी। लगातार कोशिश की, नेगेटिविटी से दूर रही, पॉजिटिव लोगों के साथ रही, फैमिली का सपोर्ट मिला।

आगे कौन सी फिल्में कर रही हैं?

राजीव रुईया की फिल्म ‘मुश्किल’ की शूटिंग के लिए जुलाई में ग्रीस जाऊंगी। संतोष शुक्ला की साइकोलॉजिकल थ्रिलर फिल्म कर रही हूं। दो और फिल्में कर रही हूं। धीरे-धीरे ही सही खुद के बलबूते पर पहचान बनाने की तरफ बढ़ रही हूं।

Next Story
Top