Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Interview: नमिश तनेजा ने बताया कैसे रूठी पत्नी को आसानी से मनाया जा सकता है

नमिश तनेजा एक ट्रेंड डांसर हैं। दिल्ली से मुंबई कोरियोग्राफर बनने की तमन्ना लेकर आए थे। एक बार अपने किसी दोस्त के साथ ऑडिशन में गए थे। वहां उन्हें भी ऑडिशन देने को कहा गया।

Interview: नमिश तनेजा ने बताया कैसे रूठी पत्नी को आसानी से मनाया जा सकता है

नमिश तनेजा एक ट्रेंड डांसर हैं। दिल्ली से मुंबई कोरियोग्राफर बनने की तमन्ना लेकर आए थे। एक बार अपने किसी दोस्त के साथ ऑडिशन में गए थे। वहां उन्हें भी ऑडिशन देने को कहा गया।

ऑडिशन में सेलेक्ट होने पर नमिश टीवी सीरियल की दुनिया में आ गए। छह साल के अपने टीवी करियर में उन्होंने पांच-छह टीवी सीरियल्स-शोज किए और अपनी अलग पहचान बनाई।

इन दिनों वह सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के सीरियल ‘मैं मायके चली जाऊंगी तुम देखते रहियो’ में लीड रोल निभा रहे हैं। हाल ही में नमिश से टेलीफोन पर सीरियल से जुड़ी लंबी बातचीत हुई।

सीरियल ‘मैं मायके चली जाऊंगी तुम देखते रहियो’ में आपका कैरेक्टर समर अपनी पत्नी जया से बहुत प्यार करता है, फिर भी जया बार-बार रूठकर मायके चली जाती है। आखिर समर से गलती कहां हो रही है?

मेरे ख्याल से समर से गलती यह हो रही है कि वह अपनी पत्नी जया से बहुत ज्यादा प्यार करता है। कोई भी चीज ज्यादा नहीं होनी चाहिए। जब पहली बार जया रूठ कर अपने मायके गई थी तभी समर को उसे मनाने के लिए उसके मायके नहीं जाना चाहिए था। अगर समर ऐसा नहीं करता तो यह सिलसिला कभी शुरू ही नहीं होता। इसके साथ ही समर ने शायद जया को बहुत ज्यादा स्पेस भी दे दिया है। उसे यह सब बैलेंस करना चाहिए।

क्या आपको लगता है कि पति-पत्नी के बीच झगड़े होने पर पत्नी का इस तरह रूठ कर मायके चले जाना सही है?

बिल्कुल नहीं। मायके जाना तो कभी किसी तरह का कोई हल होता ही नहीं है। अगर कोई प्रॉब्लम है तो उसे मिलकर सुलझाना चाहिए। बात करने से ही प्रॉब्लम का सॉल्यूशन निकलेगा। जितनी कम बात होगी, उतनी ही समस्या बढ़ती चली जाएगी।

पत्नी के बार-बार मायके जाने से मैरीड लाइफ पर क्या असर पड़ सकता है?

जाहिर है जब पति-पत्नी आपस में बात नहीं करेंगे, पत्नी रूठ कर मायके चली जाएगी तो इससे रिश्ते में खटास तो आएगी ही। लेकिन सीरियल में समर बार-बार अपनी पत्नी को मनाने मायके जाता है, क्योंकि उसे लगता है कि जया एक दिन में बदल तो नहीं जाएगी, उसे वक्त लगेगा। ऐसे में वह जया की गलतियों को नजरअंदाज कर देता है।

पति-पत्नी के बीच जब भी झगड़ा हो तो इश्यूज को हल कैसे करना चाहिए?

मुझे लगता है कि पार्टनर्स के बीच इसलिए झगड़े नहीं होते कि पति गलत है या पत्नी। असल में जिम्मेदारियां उन पर बढ़ जाती हैं। अपने सपने, पैसे, घर इन सब जरूरतों और चाहतों को पूरा करने को लेकर उन पर प्रेशर बहुत ज्यादा होता है। इन सभी प्रेशर्स की वजह से उनमें तनाव बढ़ जाता है। जाहिर है, अपनी झल्लाहट या खीझ को वे अपने पैरेंट्स पर तो नहीं निकाल सकते, इसलिए आपस में झगड़ा कर बैठते हैं। झगड़ों से बचने के लिए कपल्स को एक-दूसरे को टाइम देना चाहिए, कभी-कभी साथ मिलकर घूम आना चाहिए, माहौल को बदलना चाहिए, स्ट्रेस से दूर रहना चाहिए। इससे समस्या अपने आप कम होने लगेगी।

अगर सास-बहू का झगड़ा होता है, एक बेटे को, पति को क्या करना चाहिए?

सबसे पहले यह सोचिए कि लड़के की परवरिश कैसे होती है। उस पर बचपन से ही प्रेशर होता है कि उसे पैसा कमाना है, पत्नी की ख्वाहिशों को पूरा करना है। लेकिन लड़कों को कभी यह नहीं बताया जाता है कि रिश्तों को कैसे निभाना चाहिए? सास-बहू के झगड़ों को कैसे डील करना चाहिए? मैं मानता हूं कि बेटा अपनी मां के साथ जैसे पेश आता है, वैसे ही उसकी पत्नी उसे ट्रीट करती है। जब भी पहली बार बहू अपनी सास के साथ बदतमीजी से पेश आए, उसी दिन बेटे को अपनी पत्नी को प्यार से लेकिन सख्त लहजे में समझा देना चाहिए कि वह मां के साथ इस तरह पेश नहीं आ सकती। इसी तरह मां को भी कहे कि वह अपनी बहू की बातों को समझने की कोशिश करें। दोनों को समझाने से ही बात बनेगी।

अगर आपकी पत्नी भी रियल लाइफ में जया की तरह बिहेव करे तो आप क्या करेंगे? बार-बार मनाएंगे या फिर कोई और रास्ता निकालेंगे?

सबसे पहली बात तो यह कि जिसकी लाइफ में करने को कुछ नहीं होता है, जिसके पास सपने नहीं होते, वही अकसर राई का पहाड़ बनाते हैं। जहां तक पत्नी का रूठ कर मायके चले जाने की बात है तो मैं समर की तरह अपनी पत्नी को बार-बार नहीं मनाऊंगा।

Next Story
Top